अपना शहर चुनें

States

इंदौर में बर्ड फ्लू के बाद 7 दिन के लिए चिकन दुकानें बंद, दूसरे ज़िलों से मुर्गा-मुर्गी लाने पर भी बैन

इंदौर में 500 से ज्यादा पोल्ट्री फॉर्म्स हैं.
इंदौर में 500 से ज्यादा पोल्ट्री फॉर्म्स हैं.

खजराना और आजाद नगर की तीन पॉल्ट्री दुकानों के सैंपल पॉजिटिव पाए जाने के बाद आज नगर निगम ने करीब 90 दुकानों पर कार्रवाई करते हुए 700 से ज्यादा बर्ड और 2000 अंडे जब्त किए

  • Share this:
इंदौर.इंदौर के मूसाखेडी़ इलाके में मीट की दुकानों पर चिकन में बर्ड फ्लू (Bird flu) की पुष्टि के बाद जिले की सभी दुकानों को बंद करा दिया गया है.साथ ही दूसरे जिलों से चिकन और मुर्गा मुर्गी लाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है. आज भी यहां 30 कौवों की मौत हुई. इन्हें मिलाकर अब तक इंदौर (Indore) में बर्ड फ्लू से 255 कौवे मारे जा चुके हैं.कौवौ और मुर्गियों के अलावा अब दूसरे पक्षियों के भी सैंपल लिए जा रहे हैं.

शहर की जिन दुकानों में चिकन काटने के स्थान और उपयोग किए गए चाकुओं के सैंपल पॉजिटिव आए थे. बाद में जांच में पता चला कि इन दुकानों पर हरियाणा से मुर्गियां लाई गईं थीं.वहीं से ये बर्ड फ्लू यहां पहुंचा है.

टीम तैयार
इंदौर में बर्ड फ्लू के दस्तक के साथ ही इसका फैलाव रोकने के लिए सख्ती शुरू कर दी गयी है. बर्ड फ्लू की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के इंदौर नगर निगम की टीम,स्वास्थ्य विभाग और पशु चिकित्सा विभाग की टीम सक्रिय हो गई.इन टीमों ने सबसे पहले आजाद नगर क्षेत्र में दबिश देकर दुकाने बंद कराईं.इसी इलाके की दुकानों पर चिकन काटने के स्थान और उपयोग किए गए चाकुओं में बर्ड फ्लू का संक्रमण मिला था. उसके बाद कलेक्टर मनीष सिंह के आदेश पर जिले की सभी चिकन दुकानों को 7 दिन के लिए बंद करा दिया गया है.
घबराएं नहीं


शासकीय पशु चिकित्सा विभाग इंदौर के उप संचालक डॉ प्रमोद शर्मा ने बताया कि कलेक्टर के आदेश पर 7 दिन के लिए पूरे इंदौर जिले में चिकन और मुर्गा मुर्गी के व्यवसाय पर बैन लगा दिया गया है.साथ ही दूसरे जिलों से इंदौर में मुर्गा मुर्गियों को लाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है.वरिष्ठ पशु चिकित्सक डॉ.प्रशांत तिवारी का कहना है कि इंदौर के सात सैंपल पॉजिटिव निकले हैं. इनमें तीन मुर्गे मुर्गियां हैं और चार बर्ड काटने वाले छुरों में बर्ड फ्लू का संक्रमण निकला है. लेकिन राहत की बात ये है कि अभी तक वायरस का बहुत ही हल्का स्ट्रेन मिला है. जिससे इंसानों को नुकसान नहीं होगा. इसलिए इससे घबराने की बात नहीं है. लेकिन सावधानी बरतना बहुत जरूरी है. यदि सावधानी बरती गई तो 15 दिन में ये वायरस खत्म हो जाएगा.

700 मुर्गियां दफनायीं
शहर के खजराना और आजाद नगर की तीन पॉल्ट्री दुकानों के सैंपल पॉजिटिव पाए जाने के बाद आज नगर निगम ने करीब 90 दुकानों पर कार्रवाई करते हुए 700 से ज्यादा बर्ड और 2000 अंडे जब्त किए. इन सभी को निगम की टीम एहतियात के साथ सुनसान क्षेत्र में ले गई. वहां 5 फीट गहरे गढ्ढे में सबको चूने के साथ मिलाकर दफना दिया गया.नगर निगम कमिश्रनर प्रतिभा पाल का कहना है शहर की दुकानें 7 दिन के लिए बंद की गयी हैं. नगर निगम इन इलाकों को लगातार सेनिटाइज कर रहा है. उन्होने कहा इंदौर में सबसे अच्छी बात ये है कि व्यापारियों ने खुद आगे आकर दुकानें बंद करने का फैसला किया है और साफ सफाई की व्यवस्था भी वही लोग कर रहे हैं.

पोल्ट्री फॉर्म्स की जांच
इंदौर के सांसद शंकर लालवानी का कहना है फिलहाल ये राहत वाली बात है कि जीवित मुर्गियों में ये वायरस नहीं मिला है. लेकिन सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि कौवों के मरने का सिलसिला जारी है. शहर के डेली कॉलेज के अलावा आंबाखेड़ी, बेटमा,देपालपुर जैसे ग्रामीण इलाकों में कौवो के मरने की सूचनाएं मिल रही हैं. ऐसे में पक्षियों की जांच के दायरे को व्यापक किया जा रहा है. जिले के सभी मुर्गी पालन केन्द्रों की भी जांच कराई जा रही है.

500 से ज़्यादा पोल्ट्री फॉर्म्स
बहरहाल शहर में 500 से ज्यादा छोटे-बड़े पोल्ट्री फॉर्म हैं,जिनमें 10 लाख मुर्गे-मुर्गियां पलते हैं. एच-5 एन-8 एवियन इन्फ्लूएंजा यानि बर्ड फ्लू का सबसे ज्यादा खतरा पोल्ट्री फॉर्म में ही है. यही वजह है कि अब शहर का करीब 42 लाख रुपए प्रतिदिन का कारोबार प्रभावित हो गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज