अपना शहर चुनें

States

इंदौर में भू माफिया के खिलाफ बड़ी कार्रवाई : 17 पर केस दर्ज, कई के ठिकानों पर छापा

कलेक्टर और एसपी ने पी सी कर माफिया के खिलाफ कार्रवाई की जानकारी दी
कलेक्टर और एसपी ने पी सी कर माफिया के खिलाफ कार्रवाई की जानकारी दी

INDORE : 17 भू माफिया के खिलाफ मामले दर्ज किये गए हैं.इसमें एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. एक पूर्व से ही जेल में बंद है.

  • Share this:
इंदौर.इंदौर (Indore) में जिला प्रशासन ने गुरुवार को भू माफिया (Land mafia) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है.मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर हुई इस कार्रवाई में 17 भू माफिया के खिलाफ विभिन्न थानों में कूटरचना और धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मामले दर्ज किए गए. इनमें सुरेंद्र संघवी, प्रतीक संघवी, रणवीर सिंह सूदन, विमल लुहाड़िया, दिलीप जैन, मुकेश खत्री, राजीव धवन सहित अन्य शामिल हैं.इनमें से सुरेंद्र संघवी के भाई कांग्रेस के टिकट पर चुनाव भी लड़ चुके हैं.

हेराफेरी कर सरकारी जमीन हड़पने वाले भू माफिया पर इंदौर जिला प्रशासन का डंडा चला है. कलेक्टर के निर्देश पर पुलिस ने खजराना और एमआईजी थाने में 17 कुख्यात भू माफिया के खिलाफ केस दर्ज किए हैं. प्रशासन ने खुद पीड़ितों को थाने ले जाकर एफआईआर की कार्रवाई कराई. जिन 17 भूमाफिया पर प्रकरण दर्ज किए गए हैं उनमें सुरेंद्र संघवी, प्रतीक संघवी, रणवीर सिंह सूदन, विमल लुहाड़िया, पुष्पेंद्र नीमा, दिलीप सिसोदिया, दिलीप जैन, मुकेश खत्री, जितेंद्र धवन, राजीव धवन, श्रीधर कदम, रामसेवक पाल, गुलाम हुसैन, रमेश चंद्र जैन, केशव नाचानी और ओमप्रकाश धनवानी शामिल हैं.

लंबे समय से मिल रही थी शिकायत
प्रशासन और पुलिस को कॉलोनियों और हाउसिंग सोसाइटी के संबंध में लंबे समय से शिकायतें मिल रही थीं. विधायक महेंद्र हार्डिया ने जब पुष्पविहार कॉलोनी के मामले की शिकायत मुख्यमंत्री से की तो प्रदेश मुखिया ने इस तरह के सभी मामलों पर कार्रवाई के लिए कलेक्टर को निर्देश दिए. प्रशासन कुछ दिन से अलग अलग हाउसिंग सोसाइटी और कॉलोनियों की कुंडली बनाने में जुटा था और अब कार्रवाई की गई. प्रशासन ने मजदूर पंचायत गृह निर्माण सोसायटी, पुष्प विहार कॉलोनी, देवी अहिल्या श्रमिक कामगार संस्था, हिना पैलेस कॉलोनी सहित कुछ अन्य संस्थाओं के पीड़ितों की शिकायत पर कार्रवाई की.
 2 माफिया हिरासत में


पुलिस ने दो भू माफिया को हिरासत में लिया है. डीआईजी मनीष कपूरिया के मुताबिक तमाम फरार आरोपियों को राउंडअप करने के लिए लगातार दबिश दी जा रही है. उम्मीद है कि जल्दी सफलता मिलेगी.

3 हजार करोड़ की ज़मीन
प्रशासन की कार्रवाई से शहर में करीब 3000 करोड़ से अधिक की भूमि माफिया के कब्जे से छुड़ायी जाएगी.इससे 15000 से ज्यादा पीड़ित प्लॉट धारक की परेशानी दूर होगी.कलेक्टर ने कहा पात्र लोगों को प्लॉट दिलाएंगे और गलत रजिस्ट्री कैंसल करायी जाएंगी,जिन्हें प्लॉट नहीं मिलेंगे, उन्हें उसका पैसा दिलाया जाएगा.


   खजराना में 6 केस दर्ज
पुलिस ने भू माफिया के खिलाफ केस दर्ज किया और उनके कई ठिकानों पर छापे मारे. खजराना और एमआईजी पुलिस ने 6 केस दर्ज किए हैं. जिला प्रशासन भू माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कई दिन से तैयारी कर रहा था. एडीएम अभय बेडेकर और और एसडीएम अंशुल खरे के नेतृत्व में एक विशेष टीम इस पूरे मामले की जांच कर रही थी.बुधवार को फरियादियों को लेकर प्रशासन के अधिकारी थानों में पहुंचे और देर शाम एफ आई आर दर्ज करने का सिलसिला शुरू हुआ. एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. वही  एक पूर्व से ही जेल में बंद है. इसके अतिरिक्त पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश में जगह जगह छापेमार रही है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज