Indore News: बिंदु आंटी ने 'धंधा' करने के लिए दो पतियों को छोड़ा, कच्ची उम्र के लड़कों को टारगेट बनाने का आरोप

15 साल की नाबालिग से गैंगरेप में आरोपी बनाई गई बिंदू आंटी की कहानी भी इंदौर की ड्रग्स वाली आंटी से काफी मिलती-जुलती है.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

15 साल की नाबालिग से गैंगरेप में आरोपी बनाई गई बिंदू आंटी की कहानी भी इंदौर की ड्रग्स वाली आंटी से काफी मिलती-जुलती है.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Indore Sex Racket: 15 साल की लड़की के साथ गैंगरेप में जिस बिंदू नाम की महिला का नाम सामने आया था, उसकी कहानी ड्रग्स वाली आंटी से काफी मिलती-जुलती है. वह भी एमडीएमए, ब्राउन शुगर, कोकीन की सप्लाई करती है और नाबालिगों को इस धंधे में धकेल रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 10:19 AM IST
  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश में 15 साल की नाबालिग के साथ गैंगरेप में जिस बिंदू नाम की महिला का नाम सामने आया है, उस बिंदू आंटी (Bindu aunty) की कहानी भी इंदौर की ड्रग्स वाली आंटी (Aunt with drugs) से काफी मिलती-जुलती है. पुलिस ने गैंगरेप के मामले में इसी महिला को आरोपी बनाया है. वह भी मादक पदार्थों की खरीद-फरोख्त करती है और उसी के घर पर पहली बार छठी कक्षा की छात्रा को नशीला पदार्थ दिया गया. फिर उसके साथ आरोपियों ने एक-एक कर दुष्कर्म किया.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, बिंदू आंटी एमडीएमए, ब्राउन शुगर, कोकीन की सप्लाई करती है. वह नाबालिगों को भी इस धंधे में धकेल रही है. लड़की की शिकायत पर गजनी ठाकुर, अमन वर्मा, बिंदू और अन्य के खिलाफ अपहरण, सामूहिक दुष्कर्म की धाराओं में केस दर्ज किया गया है.

बिंदू उर्फ बीनू गांगले (38) मूल रूप से बड़वानी की रहने वाली है. अब वह पिंक सिटी पंचवटी कॉलोनी,  इंदौर में रहती है. उसने दो शादियां की हैं. उसके पहले पति मनोहर ने तलाक के बाद संन्यास ले लिया था. वहीं, दूसरे पति का नाम जितेंद्र है, जिसने साल 2000 में बिंदू से शादी की थी. वर्ष 2015 में जितेंद्र ने भी उसे छोड़ दिया. बिंदू के दो बच्चे हैं. एक बेटी और एक बेटा. बेटी बड़ी है और उसकी शादी भी हो चुकी है. अब बिंदू किसी आकाश नाम के व्यक्ति के साथ रहती है. वह उसे अपना बॉयफ्रेंड बताती है. इसी कारण बिंदू के बेटे ने उससे दूरी बना रखी है. पुलिस आकाश को तलाश रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमन और गजनी आकाश के पुराने परिचित हैं. इन्होंने ही बिंदू को ड्रग्स के काम में उतरने की सलाह दी थी. बिंदू को इनकी बात ऐसी जमी कि उसने गांधी नगर स्थित अपनी नानी का घर छोड़ पंचवटी नगर में मकान ले लिया. करीब 5 साल से बिंदू यहां रह रही थी. इसी दौरान, उसने घर में कुछ बदलाव भी करवा लिए. उसने घर  में एक अलग कमरा बनवाया, जिसमें अनैतिक कार्य के साथ नौजवानों को ब्राउन शुगर का नशा करवाया जाता था. बिंदू 15 से 20 साल के नौजवानों को शिकार बनाती और उन्हें ड्रग्स सप्लाई करती और करवाती थी.
पुलिस पूछताछ में अमन और गजनी ने बताया, वह नौजवानों को पहले फ्री में ड्रग्स देते थे. लत लगने के बाद वे उनसे मोटी रकम वसूलते थे. वे ऐसी लड़कियों को निशाना बनाते थे,  जो मां, बाप से दूर रह रही हैं या उन्हें रुपयों की जरूरत है. नाबालिग और कम उम्र की लड़कियों को पहले ड्रग्स दिया जाता था. उसके बाद अनैतिक काम के लिए भी दबाव बनाया जाता था. आरोपी अमन ने पुलिस को बताया कि वह उज्जैन और प्रतापगढ़ (राजस्थान) से ड्रग्स लाता रहा है. आरोपियों का कहना है, ड्रग्स का मुख्य सप्लायर प्रतापगढ़ का रहने वाला एक लाला है, जो लंबे समय से अमन को ड्रग्स दे रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज