कर्मचारियों को पीटने पर बोले आकाश विजयवर्गीय- हमारे काम का तरीका आवेदन, निवेदन और दनादन

मामले के तूल पकड़ने पर आकाश विजयवर्गीय ने कहा, 'ये तो सिर्फ शुरुआत है, हम लोग गुंडागर्दी और भ्रष्टाचार को खत्म कर देंगे. हमारे काम करने का तरीका आवेदन, निवेदन और फिर दनादन है'

News18 Madhya Pradesh
Updated: June 26, 2019, 3:37 PM IST
News18 Madhya Pradesh
Updated: June 26, 2019, 3:37 PM IST
बीजेपी के दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और इंदौर से बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय विवादों में घिर गए हैं. आकाश ने एक जर्जर मकान को तोड़ने आई नगर निगम की टीम के अधिकारियों-कर्मचारियों से क्रिकेट बैट से मारपीट की है. आकाश का आरोप है कि मंत्री सज्जन वर्मा के इशारे पर तोड़-फोड़ की कार्रवाई की जा रही थी.

मकान तोड़ने पर हंगामा
नगर निगम की टीम गंजी कंपाउंड इलाके में जर्जर मकान तोड़ने पहुंची थी. लोग इसका विरोध कर रहे थे. उसी दौरान आकाश भी अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंच गए और कार्रवाई का विरोध करने लगे. उन्होंने खुलेआम अधिकारियों को अतिक्रमण ना हटाने की चेतावनी दी.

बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय के समर्थक भी गुंडागर्दी कर रहे थे. उन्होंने नगर निगम की जेसीबी मशीन की चाभी निकाल ली. आकाश विजयवर्गीय और निगम अधिकारियों के बीच इस दौरान तीखी बहस हुई. वो जेसीबी मशीन पर चढ़ गए और कार्रवाई का विरोध करने लगे.


Loading...



आकाश विजयवर्गीय यहीं नहीं रुके. उन्होंने क्रिकेट बैट हाथ में उठा लिया और नगर-निगम की टीम में शामिल कर्मचारियों को पीटना शुरू कर दिया. पूरे इलाके में ज़बरदस्त हंगामा हो गया. आकाश देर तक पुलिस और नगर-निगम के स्टाफ से भिड़ते रहे.



आकाश का आरोप
दरअसल नगर-निगम की टीम बुधवार को यहां बीजेपी कार्यकर्ता भेरूलाल नाम के शख़्स का मकान गिराने पहुंची थी. आकाश विजयवर्गीय का आरोप है कि मकान तोड़ने की आड़ में निगम के कर्मचारी परिवार की महिलाओं से गलत व्यवहार कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि नगर निगम को कार्रवाई के दौरान महिला पुलिसकर्मियों को साथ लेकर आना चाहिए था.



मामले के तूल पकड़ने पर आकाश विजयवर्गीय ने कहा, 'ये तो सिर्फ शुरुआत है, हम लोग गुंडागर्दी और भ्रष्टाचार को खत्म कर देंगे. हमारे काम करने का तरीका आवेदन, निवेदन और फिर दनादन है'



गुस्से में स्टाफ

बीजेपी विधायक और समर्थकों की गुंडागर्दी से निगम के कर्मचारी भी आक्रोशित हो गए. कर्मचारी नेता उमाकांत काले ने मोर्चा संभाल लिया और और निगम में सभी विभागों का काम बंद करवा दिया.

थाने में हंगामा

मामले के तूल पकड़ने पर विधायक आकाश विजयवर्गीय एमजी रोड थाना पहुंच गए. यहां भी उनके समर्थकों ने हंगामा किया और नारेबाज़ी शुरू कर दी. खबर पाकर बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय के खास रमेश मेंदोला भी थाने पहुंच गए. एसपी यूसुफ़ कुरैशी भी वहां फौरन पहुंचे. 

(इंदौर से विकास सिंह चौहान और अरुण कुमार त्रिवेदी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें-नीमच जेलब्रेक : सिपाहियों ने खुले छोड़ दिए थे गेट और फिर...

डायस पर बैठकर मंत्री ने किया तहसीलदार को निलंबित...
First published: June 26, 2019, 1:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...