शायर राहत इंदौरी के निधन पर BJYM नेता ने किया विवादित ट्वीट, ट्रोल आर्मी हुई सक्रिय
Indore News in Hindi

शायर राहत इंदौरी के निधन पर BJYM नेता ने किया विवादित ट्वीट, ट्रोल आर्मी हुई सक्रिय
मशहूर शायर राहत इंदौरी का मंगलवार को निधन हो गया था

शायर राहत इंदौरी (Rahat Indori) का दो दिन पहले निधन हो गया. कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उन्हें इंदौर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

  • Share this:
इंदौर.देश के मशहूर शायर राहत इंदौरी को गुजरे हुए अभी 1 दिन ही हुआ है और उनके निधन (Death) को लेकर सियासी बयानों और ट्वीट (twitter) का दौर शुरू हो गया है. उसी मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में जहां राहत साहब ने अपनी पूरी ज़िंदगी गुजार दी वहीं के नेताओं ने उनके लिए अनर्गल कमेंट किए. बीजेपी युवा मोर्चा (bjym) के प्रदेश उपाध्यक्ष अंशुल तिवारी ने राहत इंदौरी के निधन पर एक ऐसा बेतुका ट्वीट किया है जिसे लेकर अब हर जगह सवाल खड़े हो रहे हैं.

बीजेपी युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष अंशुल तिवारी ने ट्वीट कर लिखा कि, "मस्जिदें कबूल थीं, बस मंदिर खटक गए, भूमिपूजन से आहत, राहत सटक गए". तिवारी का ये ट्वीट करने की देर थी कि राहत इंदौरी को लेकर भद्दे भद्दे कमेंट शुरू हो गए. ट्रोल आर्मी यह तक नहीं देख रही कि अब राहत इंदौरी इस दुनिया में नहीं रहे.उन्हें लेकर कई तरह के ट्वीट अंशुल तिवारी के ट्वीट के कमेंट ऑप्शन में आए.

चले गए राहत साहब
मशहूर शायर राहत इंदौरी को मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद इंदौर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वहां इलाज के दौरान उन्हें दो बार हार्ट अटैक आया और उनका निधन हो गया. राहत इंदौरी के मध्य प्रदेश या देश में ही नहीं बल्कि दुनिया में चाहने वाले बहुत थे. उनकी एक शायरी बहुत मशहूर हुई जिसमें उन्होंने कहा था "मरने पर मेरी एक पहचान लिख देना लहू से मेरी पेशानी पर हिंदुस्तान लिख देना" बावजूद इसके ट्रोल आर्मी उनके निधन के बाद भी उन पर सवाल उठा रही है.




आमने सामने बीजेपी कांग्रेस

बीजेपी युवा मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष अंशुल तिवारी के ट्वीट पर बीजेपी और कांग्रेस में सियासी घमासान शुरू हो गया है. हालांकि बीजेपी प्रवक्ता आशीष अग्रवाल ने अंशुल तिवारी के ट्वीट से किनारा करते हुए कहा है कि राहत साहब को लेकर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा ने उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी है. वही पूरी पार्टी की लाइन है. लेकिन कांग्रेस बीजेपी पर पलटवार कर रही है. कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी का यही कल्चर है और उनकी पाठशाला में वही सिखाया जाता है जो अंशुल तिवारी राहत इंदौरी के निधन के बाद लिख रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज