Assembly Banner 2021

बैंकों की हड़ताल से इंदौर में 1 लाख 17 हजार करोड़ का कारोबार प्रभावित

बैंकों की हड़ताल से इंदौर में 1 लाख 17 हजार करोड़ का कारोबार प्रभावित

बैंकों की हड़ताल से इंदौर में 1 लाख 17 हजार करोड़ का कारोबार प्रभावित

ऑल इंडिया संघर्ष कमेटी ने घोषणा की थी कि हड़ताल (strike) के कारण गांवों से दूध, सब्जी-फल के साथ-साथ हरे चारे की शहर में सप्लाई प्रभावित होगी. मध्य प्रदेश में सेंट्रल बैंक ने एसएमएस (sms) भेज कर ग्राहकों को हड़ताल की जानकारी दी.

  • Share this:
इंदौर.ऑल इंडिया ट्रेड यूनियंस (All India Trade Unions) के आह्वान पर आज भारत बंद (Bharat band) है. इंदौर (indore) शहर सहित पूरे मालवा-निमाड़ में इसका असर देखने को मिला. हड़ताल (strike) में बैंकों (banks) के भी देशभर के सात लाख कर्मचारी शामिल हैं. इनमें मध्यप्रदेश (madhya pradesh) के बीस हजार और इंदौर के तीन हजार कर्मचारी हैं. बैंकों की इस हड़ताल से प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में एक लाख 17 हजार करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित हुआ है.

इंदौर शहर के तीन हजार से ज्यादा बैंक कमचारी बुधवार सुबह10.30 बजे राजबाड़ा के सांठा बाजार में बैंक ऑफ इंडिया के सामने इकट्ठा हुए. उसके बाद रैली के रूप में बोहरा बाजार,बड़ा सराफा, पीपली बाजार, बर्तन बाजार होते हुए बजाजखाना चौक पहुंचे. वहां बैंक यूनियन के नेताओं ने कर्मचारियों की सभा को संबोधित किया.

अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी
ऑल इंडिया बैंक एम्प्लाईज एसोसिएशन के मध्यप्रदेश के अध्यक्ष मोहन कृष्ण शुक्ला ने बताया कि हम लोग लम्बे समय से कर्मचारियों के लिए न्यूनतम वेतन 21 हजार प्रति माह, खाली पड़े पदों पर शीघ्र भर्ती की मांग कर रहे हैं. साथ ही ठेका प्रथा बंद करने, संविदा, आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को नियमित करने,बोनस और और प्रॉविडेंट फंड की अदायगी पर से सभी बाध्‍यताएं हटाने सहित अन्य मांग कर रहे हैं.,लेकिन सरकार हमारी मांगों को अनदेखा कर रही है. अभी ये एक दिन की सांकेतिक हड़ताल है. यदि सरकार ने मांगें नहीं मानीं तो अब आगे अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी.
249 किसान और 80 विद्यार्थी संगठनों का समर्थन


आज के भारत बंद को देशभर के 249 किसान संगठन और 80 विद्यार्थी संगठनों ने समर्थन दिया है. इसके अलावा भारतीय व्यापार संघ, ऑल इंडिया यूनाइटेड ट्रेड यूनियन सेंटर, हिंद मजदूर सभा, स्व-रोजगार महिला संघ, ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस , लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन,यूनाइटेड ट्रेड यूनियन कांग्रेस,ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस , इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस और ट्रेड यूनियन कोऑर्डिनेशन सेंटर भी इस हड़ताल में शामिल हैं.

SMS से सूचना
ऑल इंडिया संघर्ष कमेटी ने घोषणा की थी कि हड़ताल के कारण गांवों से दूध, सब्जी-फल के साथ-साथ हरे चारे की शहर में सप्लाई प्रभावित होगी. मध्य प्रदेश में सेंट्रल बैंक ने एसएमएस भेज कर ग्राहकों को हड़ताल की जानकारी दी.

ये भी भेजें-काली मिर्च पर मध्य प्रदेश में क्यों मचा बवाल....जानिए माजरा क्या है

सांसद प्रज्ञा ठाकुर का मोबाइल फोन चोरी ! स्टाफ के पास से गुम हुआ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज