Home /News /madhya-pradesh /

4 आंखों, दो मुंह वाले बछड़े को देखने उमड़ी भीड़, शिव-पार्वती मान पूजा कर रहे लोग

4 आंखों, दो मुंह वाले बछड़े को देखने उमड़ी भीड़, शिव-पार्वती मान पूजा कर रहे लोग

इंदौर में जन्मा अनोखा बछड़ा लोगों को अपनी ओर खींच रहा है. लोग इस भगवान शंकर-मां पार्वती की अवतार मान रहे हैं.

इंदौर में जन्मा अनोखा बछड़ा लोगों को अपनी ओर खींच रहा है. लोग इस भगवान शंकर-मां पार्वती की अवतार मान रहे हैं.

Madhya Pradesh News: इंदौर में एक गाय ने अनोखे बछड़े को जन्म दिया है. इस बछडे़ के दो मुंह, चार आंखें और दो कान हैं. लोग इसे भगवान शंकर-पार्वती का अवतार मानकर पूजा अर्चना भी करने लगे. वे इसे भगवान का अद्भुत चमत्कार बता रहे हैं. गाय मालिक के घर पर इस बछडे़ को देखने दिनभर लोगों का हुजूम उमड़ रहा है. पशु चिकित्सक भी इस बछड़े को लेकर हैरत में हैं. पशु चिकित्सक डॉ. मुकेश गुप्ता का कहना है कि हजारों मामलें में एक केस ऐसा होता है, जब इस तरह का दो मुंह वाला बच्चा पैदा होता है.

अधिक पढ़ें ...

इंदौर. इंदौर के प्रेमचंद मुवाला का घर आजकल आस्था और विश्वास का केन्द्र बन गया है. बाणगंगा थाना इलाके के भागीरथपुरा में रहने वाले प्रेमचंद के घर एक अद्भुत बछडे़ ने जन्म लिया है. इस बछड़े के दो मुंह और चार आंखे हैं. लोग इसे शंकर-पार्वती का अवतार मानकर पूजा कर रहे हैं. कमाल की बात ये है कि बछड़ा दोनों ही मुंह से दूध पीता है. प्रेमचंद का कहना है कि इस बछड़े के जन्म के बाद से ही लोग हैरत में हैं. लोगों को दो मुंह वाले इस बछड़े के बारे में जैसे-जैसे जानकारी मिल रही है, वे कौतूहलवश दूरदराज से इसे देखने उनके घर आ रहे हैं.

प्रेमचंद ने बताया कि आलम ये है कि बछड़े को देखने के लिए घर में पूरे दिन लोगों का जमावड़ा रहता है. बछड़ा बिल्कुल सामान्य है. बस इसके दो मुंह हैं. लेकिन, लोग इसे काफी असामान्य मान रहे हैं. प्रेमचंद की पत्नी इसे एक चमत्कार मान रहीं हैं. वो काफी खुश हैं कि उनके घर इस अनोखे बछड़े ने जन्म लिया है.बछड़े को चमत्कार मान कर वो रोज उसकी पूजा भी कर रही हैं. वहीं उनका बेटा भरत इसकी देखभाल करता है. उनका कहना है कि दोनों मुंह एक साथ चलते हैं. इसलिए बछडे़ के एक मुंह में गाय का थन और दूसरे मुंह में दूध की बोतल लगानी पड़ती है. इस तरह ये बछड़ा दूध पीता है.

पशु चिकित्सक भी हैरत में

दूसरी ओर, पशु चिकित्सक भी इस बछड़े को लेकर हैरत में हैं. पशु चिकित्सक डॉ. मुकेश गुप्ता का कहना है कि हजारों मामलें में एक केस ऐसा होता है, जब इस तरह का दो मुंह वाला बच्चा पैदा होता है. से बच्चे कम जीवित रहते हैं. लेकिन ये भगवान का चमत्कार है कि ये बच्चा सरवाइव कर गया है. हालांकि, ऐसा जीन सीक्वेंसिंग की वजह से हो जाता है. ये बहुत अच्छी बात है कि बच्चा स्वस्थ है. इसके दो मुंह जरूर हैं, लेकिन पेट एक ही है. इसके मालिक को समझाया गया है कि दो मुंह होने की वजह से ऐसा नहीं हैं कि इसके दोनों मुंह से दूध पिलाना पड़ेगा. बल्कि, ओवर फीडिंग से बचना होगा, जितनी इसकी जरूरत होगी वो एक मुंह से पूरी हो जाएगी. करीब 2 महिने बाद बछड़ा चारा खाने लगेगा.

Tags: Indore news, Madhya pradesh news, Madhya pradesh news live, Mp news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर