कंप्यूटर बाबा का आश्रम जमींदोज; आलीशान बाथरूम का करते थे इस्तेमाल, कब्जा हटाने के दौरान मिलीं तलवारें और बंदूक

इंदौर के जम्बूडी हप्सी गांव में स्थित कंप्यूटर बाबा के आश्रम को आज प्रशासन ने ढहा दिया.
इंदौर के जम्बूडी हप्सी गांव में स्थित कंप्यूटर बाबा के आश्रम को आज प्रशासन ने ढहा दिया.

मध्य प्रदेश उपचुनाव (MP By-polls) के दौरान लोकतंत्र बचाओ यात्रा निकालने वाले कंप्यूटर बाबा (Computer Baba) का 2 एकड़ में फैला गोम्मटगिरि आश्रम ढहा. कल दिग्वजिय सिंह (Digvijay Singh) जेल में करेंगे मुलाकात. जैन समाज ने इंदौर सांसद शंकर लालवानी को दिया धन्यवाद.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों के लिए हुए उपचुनाव (MP By-polls) के दौरान सरकार के खिलाफ लोकतंत्र बचाओ यात्रा निकालने वाले कंप्यूटर बाबा उर्फ नामदेव दास त्यागी (Computer Baba alias Namdev Das Tyagi) का आश्रम आज जमींदोज कर दिया गया. इंदौर शहर से सटे जम्बूडी हप्सी गांव में गोम्मटगिरी पर बने आलीशान आश्रम को प्रशासन ने ढहा दिया. सरकारी जमीन को कब्जे से मुक्त कराने की कार्रवाई के दौरान पता चला कि आश्रम में एक आलीशान बाथरूम भी था. वहीं कार्रवाई के दौरान आश्रम से बंदूकें और तलवारें भी मिलीं, जिन्हें जब्त कर लिया गया है. प्रशासन ने इस मामले में कंप्यूटर बाबा और उनके 6 सहायकों को भी गिरफ्तार किया है.

इधर, कंप्यूटर बाबा के आश्रम पर कार्रवाई से प्रदेश की सियासत भी गर्मा गई है. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने पूरी कार्रवाई को बदले की भावना से की गई कार्रवाई करार दिया है. बताया गया है कि पूर्व सीएम कल इंदौर पहुंचकर सेंट्रल जेल में बंद कंप्यूटर बाबा से मुलाकात करेंगे. दूसरी ओर, गोम्मटगिरी आश्रम पर कार्रवाई से जैन समाज खुश है. समाज के प्रतिनिधियों ने आज इंदौर के सांसद शंकर लालवानी (Indore MP Shankar Lalwani) से मिलकर आश्रम की जगह गौशाला बनाने की पेशकश की है.

80 करोड़ रुपए की 46 एकड़ जमीन पर कब्जा
कम्प्यूटर बाबा के जिस गोम्मटगिरी आश्रम को ढहाने के साथ-साथ प्रशासन ने कंप्यूटर बाबा समेत 7 लोगों को प्रिवेंटिव डिटेंशन के तहत हिरासत में लेकर जेल भेज दिया है. बताया गया कि एयरपोर्ट रोड पर जम्बूडी हप्सी गांव में बाबा ने गौशाला की 80 करोड़ रुपए की 46 एकड़ जमीन पर कब्जा कर रखा था. इसमें से 2 एकड़ जमीन पर आश्रम बना था. प्रशासन ने 2 महीने पहले कंप्यूटर बाबा को नोटिस भी भेजा था, लेकिन बाबा की तरफ से न तो कागज पेश किए गए और न ही कब्जा हटाया गया. इसके बाद ही आज एडीएम अजयदेव शर्मा ने नगर निगम की टीम और पुलिस के साथ मौके पर पहुंचकर आश्रम पर बुलडोजर चलवा दिया.
Indore News, इंदौर में कंप्यूटर बाबा के आश्रम पर चला बुल्डोजर, Madhya Pradesh News, मध्य प्रदेश न्यूज अपडेट, Computer Baba Ashram Demolition,
कंप्यूटर बाबा के आश्रम को ढहाने के बाद उनके अन्य अवैध कब्जों की भी शुरू हुई जांच.




बाबा के खातों की भी हो रही जांच
एसडीएम अजय देव शर्मा ने बताया कि इस जमीन पर अब गौशाला बनेगा. साथ ही यहां पर बने मंदिर को भी धार्मिक क्षेत्र के रूप में विकसित किया जाएगा. जिला प्रशासन के मुताबिक कम्प्यूटर बाबा ने और भी कई जगह जमीन कब्जा रखा है, जिनमें 60 फीट रोड पर बना काली धाम आश्रम समेत अन्य की शिकायतें मिली हैं. इनकी जांच हो रही है. वहीं प्रशासन को बाबा के कई बैंक अकाउंट होने और उनमें असामान्य तरीके से पैसा जमा होने की भी शिकायतें मिली हैं, जिसकी भी जांच शुरू हो गई है. इसमें आयकर विभाग की मदद भी ली जा रही है. अधिकारियों ने बताया कि बाबा के आश्रम में आलीशान बाथरूम बना था, जिसमें मसाज करने के सामान भी थे. वहीं कब्जा हटाने के दौरान आश्रम से 315 बोर की बंदूक, एक एयरगन और तलवारें भी मिलीं हैं.

सांसद से मिले जैन समाज के प्रतिनिधि
इधर, कंप्यूटर बाबा के आश्रम पर चले बुलडोजर के बाद अब इस जमीन पर जैन समाज ने अपने खर्चे पर गौशाला बनाने की पेशकश की है. जैन समाज के प्रतिनिधिमंडल ने आज इंदौर सांसद शंकर लालवानी से मुलाकात कर उनका सम्मान किया. गोम्मटगिरी जैन समाज ट्रस्ट के महामंत्री भरत मोदी ने बताया कि ट्रस्ट की जमीन पर कंप्यूटर बाबा लम्बे समय से कब्जा किए हुए थे. इससे समाज के लोग परेशान थे. सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि वे इसके लिए सरकार से बात करेंगे कि इस जमीन को जैन समाज को गौशाला बनाने के लिए दे दिया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज