अपना शहर चुनें

States

कमलनाथ के इंदौर दौरे से पहले कांग्रेस में कलह, कार्यकर्ताओं ने अपने नेताओं के खिलाफ ही किया प्रदर्शन

अपने ही नेताओं के खिलाफ प्रदर्शन करते कांग्रेस कार्यकर्ता.
अपने ही नेताओं के खिलाफ प्रदर्शन करते कांग्रेस कार्यकर्ता.

Indore News: पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ (Kamal Nath) के इंदौर दौरे से पहले कांग्रेस में कलह. शहर कांग्रेस अध्यक्ष पर लगे पैसे लेकर टिकट बांटने के आरोप. 

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (Kamal Nath) के इंदौर दौरे से पहले कांग्रेस में कलह मच गई है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नगर निगम चुनाव (Municipal Election) के लिए अपने नेताओं पर रुपए देकर पार्षद के टिकट बांटने का आरोप लगाया है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रीगल चौराहे पर गांधी प्रतिमा के सामने शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल, भंवर शर्मा समेत चार नेताओं के पोस्टर, बैनर पर नोट की माला चढ़ाते हुए प्रदर्शन किया. कांग्रेस के मंडलम अध्यक्ष यतिन्द्र वर्मा ने कहा कि शहर का कांग्रेस कार्यालय (Congress Office) भ्रष्टाचार का अड्डा बना हुआ है. कुछ कांग्रेस के नेता गांधी भवन कार्यालय पर बैठकर अपनी प्राइवेट लिमिटेड कांग्रेस चला रहे हैं.

कार्यकर्ताओं ने कहा कि शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल तो नगर निगम चुनाव के टिकट पहले ही बांट चुके हैं. इसमें कुछ महिला कार्यकर्ता भी शामिल हैं. रुपए देकर टिकट बांटने का काम शहर कार्यालय से लगातार जारी है. यदि कोई कार्यकर्ता इस टिकट वितरण या अन्य किसी मामले में सवाल-जवाब करता है तो उसे डराने के लिए कारण बताओ नोटिस भी नगर अध्यक्ष जारी कर रहे हैं. ऐसे नेताओं और कार्यकर्ताओं को जल्द से जल्द कार्यमुक्त किया जाए जिससे जमीनी कार्यकर्ताओं को कार्य करने का मौका मिले.





कांग्रेस में मची खींचतान से कई सवाल
इन आरोपों के बाद शहर कांग्रेस सक्रिय हो गई है. शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने यतिन्द्र वर्मा से बातचीत की जिसके बाद वह भी मान गए और दोनों नेताओं की सुलह हो गई. यतिन्द्र वर्मा ने कहा कि उन्हें गलतफहमी हो गई थी, जिसे अब दूर कर लिया गया है और उन्हें कोई शिकायत नहीं है. वहीं, शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने कहा कि यतिन्द्र किसी के बहकावे में आ गए थे. बीजेपी के कुछ नेता कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बहका रहे हैं. ये बीजेपी की साजिश है. पूरी कांग्रेस एकजुट है और नगर निगम चुनाव में जीत दर्ज करेगी.सुबह का भूला शाम को वापस आ जाए तो उसे भूला नहीं कहते.हालांकि, कमलनाथ के दौरे से पहले कांग्रेस में मची खींचतान से कई सवाल भी खड़े हो गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज