• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • इंदौर में पाकिस्तानियों को 100 रुपये में मिल रही है भारत की नागरिकता !

इंदौर में पाकिस्तानियों को 100 रुपये में मिल रही है भारत की नागरिकता !

कांग्रेस का आरोप है कि इंदौर की सांसद और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने पाकिस्तानियों को मात्र 100 रुपये में भारत की नागरिकता दी है. कांग्रेस का कहना है कि पाक लोगों को भारत की नागरिकता देने के लिए नियमों में बदलाव किया गया और उन्हें लॉन्ग टर्म वीजा दिलवाया गया है.

  • Share this:
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले को लेकर पुरा देश उबल रहा है. हर नागरिक अपने स्तर पर विरोध भी दर्ज करवा रहा है. केंद्र की भाजपा सरकार से भी पाकिस्तान को करारा जबाव देने की उम्मीद भी की जा रही है, वहीं अब इंदौर में रह रहे पाकिस्तानी नागरिकों की नागरिकता पर भी सवाल उठने लगे हैं. कांग्रेस का आरोप है कि इंदौर से भाजपा सांसद ने पाकिस्तानियों को मात्र 100 रुपये में भारत की नागरिकता दी है. कांग्रेस का कहना है कि पाक लोगों को भारत की नागरिकता देने के लिए नियमों में बदलाव किया गया और उन्हें लॉन्ग टर्म वीजा दिलवाने में भी दिलवाया है. कांग्रेस का आरोप है कि इंदौर में रह रहे पाक नागरिकों में से कई लोग फर्जी दस्तावेज बनाकर अवैधानिक गतिविधियों में भी लिप्त हैं.

कश्मीर में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले ने पूरे देश को झकझोर दिया, ऐसे में अब पाकिस्तानी-सिंधियों की नागरिकता पर सवाल खड़े हो रहे हैं. प्रदेश कांग्रेस के सचिव विवेक खंडेलवाल और शहर प्रवक्ता गिरीश जोशी ने इंदौर भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने पाकिस्तानियों को मात्र 100 रुपये में भारत की नागरिकता देने के निमय में क्यों बदलाव किया. उनका आरोप है कि भाजपा ने क्यों बिना जांच के पाक नागरिकों को लॉन्ग टर्म वीजा दिलवाने में अहम भूमिक निभाई. क्यों इंदौर में पाक नागरिकों को शरण दी जा रही है. कांग्रेस नेताओं का कहना है कि इंदौर में रह रहे हजारों पाक परिवारों में से किसी ने भी पुलवामा हमले में शहीदों को श्रद्धांजलि नहीं दी. उन्होंने आरोप लगाया कि फर्जी दस्वावेजों के आधार पर कई लोग अवैधानिक गतिविधियों में संलिप्त है. इंदौर शहर के सियागंज, जेल रोड, कपड़ा मार्केट, छावनी, सराफा और सिंधी कॉलोनी में व्यापार कर रहे पाकिस्तानियों की पहचान कर उन्हें देश से बाहर निकालने के बजाय भाजपा वोट बैंक की राजनीति कर रही है.

यह भी पढ़ें-  पाकिस्तान के मंत्री ने दी भारत को धमकी, कहा- हमला किया तो आंखें निकाल लेंगे

मामले में भाजपा का कहना है कि बंटवारे के बाद से ही नागरिकता का मुद्दा चला आ रहा है, ऐसे में सिंधियों को भारत की नागरिकता देने में कोई बुराई नहीं है. भाजपा के शहर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा का कहना है कि भाजपा ने नागरिकता के नियम सरल बनाने का काम किया है, जिससे सालों से इंदौर में रह रहे नागरिकों को उनका हक मिल सका है. मामले में सांसद प्रतिनिधि राजेश अग्रवाल का कहना है कि कांग्रेस के आरोप बेबुनियाद है. उन्होंने कहा कि ये वोट बैंक की राजनीति नहीं है, कांग्रेस तो रोहिंग्या और बंग्लादेशी घुसपैठियों का समर्थन कर रही है और हिंदुओं की नागरिकता पर सवाल उठा रही है.

बहरहाल, इंदौर में करीब 8 हजार से ज्यादा पाकिस्तानी सिंधी रह रहे हैं, इसको लेकर कांग्रेस नेताओं ने हाईकोर्ट में पीआईएल भी दाखिल की है, जिसकी सुनवाई मार्च में होनी है. इस जनहित याचिका में कई पाकिस्तानी नागरिकों पर देश में अवैध गतिविधियों में शामिल होने का भी आरोप लगाया है, लेकिन सीआरपीएफ के जवानों पर हमले के बाद ये मुद्दा एक बार फिर गरमा गया है.

यह भी पढ़ें-  पुलवामा आतंकी मुठभेड़ में घायल हुआ हिमाचल का जवान, 3 माह पहले ही हुई है शादी

यह भी पढ़ें-  शाजापुर के युवक ने फेसबुक पर लिखा ’पाकिस्तान जिंदाबाद’, पुलिस ने किया गिरफ्तार

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज