होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

कांग्रेस की पदयात्रा VS बीजेपी का बोलता तिरंगा : आजादी के अमृत महोत्सव के बहाने 2023 के लिए शक्ति प्रदर्शन

कांग्रेस की पदयात्रा VS बीजेपी का बोलता तिरंगा : आजादी के अमृत महोत्सव के बहाने 2023 के लिए शक्ति प्रदर्शन

इंदौर में 14 अगस्त को बीजेपी और कांग्रेस आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान अपने अभियान छेड़ेंगी.

इंदौर में 14 अगस्त को बीजेपी और कांग्रेस आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान अपने अभियान छेड़ेंगी.

कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव का कहना है भारतीय जनता पार्टी को अभी बहुत कुछ सीखने की जरूरत है. आजादी के 75वें वर्ष में वे तिरंगे से जुड़ पाए हैं. आज तक तिरंगे का वे महत्व तक नहीं समझे थे. अब घर घर जाकर तिरंगा लगाने की बात कर रहे हैं. 1947 से लेकर आज तक भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कभी ये स्वीकार ही नहीं किया कि आजादी किसकी मेहनत से मिली है. अब ये नाट्य मंच की बात कर रहे हैं, उसमें किसका इतिहास दिखाएंगे. इनके एक भी नेता का आजादी के संघर्ष में योगदान नहीं है. स्वतंत्रता संग्राम सेनानी इनके पास हैं नहीं, इसलिए उन्हें भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, महात्मा गांधी और वल्लभभाई पटेल जैसे कांग्रेसी विचारधारा से जुड़े लोगों के बारे में बताना पड़ेगा. बीजेपी की विचारधारा से जुड़े लोगों का तो काला इतिहास है, उनका सच जनता के सामने ला नहीं सकते, इसलिए ये सर्जिकल स्ट्राइक और धारा 370 दिखाने की बात कह रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

इंदौर. नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव के बाद अब बारी विधानसभा चुनाव की है. कांग्रेस का फोकस संगठन और जमीन मजबूत करने पर है. बीजेपी मुद्दे तलाश रही है. आजादी के अमृत महोत्सव के बहाने वो सर्जिकल स्ट्राइक और धारा 370 जैसे मुद्दे भुनाने की तैयारी में हैं. पार्टी इंदौर में बोलता तिरंगा नाम से कार्यक्रम करने जा रही है. कांग्रेस भी इसका जवाब देगी. वो नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह के नेतृत्व में इंदौर के सभी विधान सभा क्षेत्रों में पदयात्रा निकालेगी.

नगरीय निकाय और त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव खत्म होते ही राजनैतिक दलों ने 2023 की तैयारी शुरू कर दी हैं. राज्य के दो प्रमुख सियासी दल कांग्रेस और बीजेपी आजादी के अमृत महोत्सव के बहाने जनता में पैठ बढ़ाने की कोशिश में लग गए हैं. यही वजह है कि इंदौर में 14 अगस्त को कांग्रेस पदयात्रा के माध्यम से जनता के बीच जाने वाली है, तो बीजेपी बोलता तिरंगा कार्यक्रम के जरिए लोगों को जोड़ने का अभियान चलाएगी.

कांग्रेस की पदयात्रा VS बोलता तिरंगा
कांग्रेस इंदौर में झांसी की रानी प्रतिमा से पदयात्रा निकालेगी. इसमें विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह शामिल होंगे. बीजेपी बोलता तिरंगा कार्यक्रम के जरिए लोगों को जोड़ने की कोशिश में है. इस कार्यक्रम के संयोजक बीजेपी जिलाध्यक्ष राजेश सोनकर ने बताया कि कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को 1857 से 1947 तक के आजादी के क्रांतिकारियों के बारे में बताया जाएगा. 1857 में मंगल पांडे की क्रांति से लेकर करगिल युद्ध तक के संघर्ष का चित्रण नाटक के जरिए किया जाएगा. इसमें कश्मीर से धारा 370 हटाने के संघर्ष का भी विशेष उल्लेख होगा. पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी से लेकर गृह मंत्री अमित शाह के किरदारों का मंचन होगा. पीएम मोदी के हर घर तिरंगा अभियान की नाट्य प्रस्तुति दी जाएगी. लाइट एंड साउंड और स्पेशल इफेक्ट के जरिए अलग अलग दौर की क्रांति की गाथा पेस की जाएगी. आजादी के अमृत महोत्सव का मध्यप्रदेश का ये सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा.

ये भी पढ़ें-इंदौर के महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने इस अंदाज में मनायी राखी, बोले-ये मेरे लिए आत्मीय पल

एक भी स्वतंत्रता सेनानी बीजेपी के पास नहीं
कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव का कहना है भारतीय जनता पार्टी को अभी बहुत कुछ सीखने की जरूरत है. आजादी के 75वें वर्ष में वे तिरंगे से जुड़ पाए हैं. आज तक तिरंगे का वे महत्व तक नहीं समझे थे. अब घर घर जाकर तिरंगा लगाने की बात कर रहे हैं. 1947 से लेकर आज तक भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कभी ये स्वीकार ही नहीं किया कि आजादी किसकी मेहनत से मिली है. अब ये नाट्य मंच की बात कर रहे हैं, उसमें किसका इतिहास दिखाएंगे. इनके एक भी नेता का आजादी के संघर्ष में योगदान नहीं है. स्वतंत्रता संग्राम सेनानी इनके पास हैं नहीं, इसलिए उन्हें भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, महात्मा गांधी और वल्लभभाई पटेल जैसे कांग्रेसी विचारधारा से जुड़े लोगों के बारे में बताना पड़ेगा. बीजेपी की विचारधारा से जुड़े लोगों का तो काला इतिहास है, उनका सच जनता के सामने ला नहीं सकते, इसलिए ये सर्जिकल स्ट्राइक और धारा 370 दिखाने की बात कह रहे हैं.

14 को शक्ति प्रदर्शन
जिस तरह बीजेपी और कांग्रेस ने 14 अगस्त को इंदौर में शक्ति प्रदर्शन की तैयारी कर रखी है. इसे देखकर लग रहा है स्वतंत्रता दिवस के पहले इंदौर का सियासी पारा चरम पर रहने वाला है. क्योंकि एक तरफ कांग्रेस की पदयात्रा में शामिल होने मध्यप्रदेश विधानसभा में  नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह आ रहे हैं. वहीं बीजेपी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा इंदौर पहुंच रहे हैं.

Tags: Bjp madhya pradesh, Indore news. MP news, MP Congress

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर