लाइव टीवी

MP में कांग्रेस करेगी गांधीगिरी, इंदौर से भोपाल तक निकालेगी 'गांधी दर्शन पदयात्रा'

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 18, 2019, 5:43 PM IST
MP में कांग्रेस करेगी गांधीगिरी, इंदौर से भोपाल तक निकालेगी 'गांधी दर्शन पदयात्रा'
यात्रा 19 नवंबर से शुरू होकर 27 नवंबर को खत्‍म होगी.

प्रदेश के युवाओं के बीच राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के संदेशों को पहुंचाने के लिए कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) 'गांधी दर्शन पदयात्रा' (Gandhi Darshan Padayatra) निकालने जा रही है.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) युवाओं के बीच राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के संदेशों को पहुंचाने के लिए 'गांधी दर्शन पदयात्रा' (Gandhi Darshan Padayatra) निकालने जा रही है. ये यात्रा इंदौर (Indore) से भोपाल तक निकाली जाएगी. इस साल महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष में कई बड़े आयोजन किए जा रहे हैं और ये यात्रा भी उसकी एक कड़ी है. गांधी दर्शन पैदल यात्रा के माध्यम से प्रदेश की कांग्रेस सरकार महात्मा गांधी के सिद्धांतों, उनके विचारों और संदेशों को समाज की नई पीढ़ी तक पहुंचाने का काम करेगी. मंगलवार यानी 19 नवंबर को सुबह 8.30 बजे इंदौर के रीगल चौराहे स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा से इस यात्रा की शुरुआत होगी और 27 नवंबर को राजधानी भोपाल (Bhopal) के पॉलीटेक्निक चौराहा गांधी भवन पर समाप्त होगी.

पदयात्रा में होगा ये काम
इस पदयात्रा में कांग्रेस के कार्यकताओं के अलावा गांधीवादी विचारक शामिल होंगे. पदयात्रा के दौरान गांधी के प्रसिद्ध भाषणों और उनके संघर्षों को बड़ी एलईडी स्क्रीन पर आम लोगों को दिखाया जाएगा. जबकि इस पदयात्रा का संचालन मध्य प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव कर रहे हैं.

गांधी विचारों को लेकर भ्रम को दूर करेगी ये यात्रा

इस गांधी दर्शन पैदल यात्रा में शामिल हो रहे प्रसिद्ध गांधीवादी विचारक मध्य प्रदेश सर्वोदय मंडल के अध्यक्ष और गांधी की 150वीं जयंती राज्य स्तरीय समिति के सदस्य चिन्मय मिश्रा का कहना है कि गांधीजी और विनोवा भावे ने इंदौर से लम्बी यात्राएं की थीं. उन्होंने भूदान से ग्राम दान तक का परिवर्तन इंदौर से किया था. इसी परम्परा को आगे बढ़ाते हुए पिछले कुछ समय से ऐसा लग रहा था कि गांधी विचार को लेकर कुछ लोगों में भ्रम है इसलिए युवाओं में गांधी के विचारों से जोड़ने के लिए ये पद यात्रा निकाली जा रही है. यात्रा में सौ युवा एक साथ रहेंगे जो करीब दस दिनों तक ना सिर्फ गांधी पर बातचीत करेंगे बल्कि उनके विचारों को लेकर लोगों से मिलेंगे. यही नहीं, जबकि प्रार्थना सभाओं के माध्यम से लोगों तक गांधी के विचारों को पहुंचाएंगे. यात्रा का मुख्य मकसद गांधी विचार को एक बार फिर लोगों तक अच्छे तरीके से पहुंचाना और उनके मन की शंकाओं को दूर करना है.

महात्‍मा गांधी, कांग्रेस,Mahatma Gandhi, Congress
इंदौर से भोपाल तक निकाली जाएगी पदयात्रा.


सीएम कमलनाथ के हाथों कराया जाएगा युवाओं का सम्मान
Loading...

गांधी दर्शन पदयात्रा में गांधी के सिद्धांतों एवं भजनों को प्रदर्शित करता गांधी संदेश वाहन रहेगा. साथ ही गांधी की प्रतिमा चरखा से सूत काटते हुए प्रदर्शित की जाएगी. यात्रा में शामिल सौ युवा पदयात्रियों को यात्रा के समापन पर सीएम कमलनाथ के हाथों सम्मानित किया जाएगा. रास्ते में प्रत्येक रात्रि विश्राम स्थल पर गांधी के विचारों को युवाओं तक पहुंचाने के लिए नाटकों का मंचन किया जाएगा. इसके साथ ही गांधी के भजनों की प्रस्तुति के आयोजन लगातार होते रहेंगे.

कुल मिलाकर गांधी दर्शन पदयात्रा एक अच्छी पहल है जो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के संदेशों को समाज की युवा पीढ़ी तक पहुंचाने में सहायक होगी, जिसकी अभी सख्त जरूरत महसूस की जा रही है.

ये भी पढ़ें-
धूमधाम से मना CM कमलनाथ का जन्‍मदिन, मंत्रियों और कार्यकर्ताओं ने लिए ये संकल्‍प

CM कमलनाथ के जन्मदिन पर PCC ने छपवाया विज्ञापन, ये तारीफ़ है या...!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 5:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...