लाइव टीवी

COVID-19: इंदौर घटना को लेकर अमित शाह सख्‍त, अधिकारियों को दी ये हिदायत
Indore News in Hindi

News18Hindi
Updated: April 2, 2020, 8:25 PM IST
COVID-19: इंदौर घटना को लेकर अमित शाह सख्‍त, अधिकारियों को दी ये हिदायत
अमित शाह ने मांगी डॉक्टरों पर हुए हमले की रिपोर्ट (फाइल फोटो)

बीजेपी (BJP) महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जमातों में घूम रहे लोग मानव बम की तरह हैं. उन लोगों को अपने आप प्रशासन के सामने आत्मसमर्पण कर देना चाहिए.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश के मिनी मुंबई कहे जाने वाले शहर इंदौर (Indore) के टाट पट्टी बाखल में डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से बातचीत कर घटना की जानकारी ली. साथ ही अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि ऐसी घटना दोबारा न हो. डॉक्टरों को पूरी सुरक्षा दी जाए. इसी के मद्देनजर अब इलाकों में पैरा मिलिट्री फोर्स की 5 कंपनियां तैनात की जाएंगी.

इंदौर की रेसीडेंसी कोठी पर प्रशासनिक अधिकारी से मीटिंग के बाद बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि उन्होंने डॉक्टरों की टीम के साथ हुई मारपीट की रिपोर्ट गृह मंत्री अमित शाह को भेज दी है. उन्होंने कहा कि डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट की घटना बेहद शर्मनाक है. इस तरह की घटनाएं दोबारा ना हो इसके लिये हिदायत दी गई है. कैलाश विजयविर्गीय ने कहा, 'शहर को बचाना है तो घरों से बाहर लोग ना निकलें. शहर में राशन और भोजन की आपूर्ति के लिए प्लान बनाया जाएगा. इसमें सामाजिक संस्थाओं की भी इसमें मदद ली जाएगी.' शासकीय विभागों में समन्वय की कमी को लेकर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि 2 से 3 दिन में व्यवस्थाएं सुधर जाएंगी.

जमातों में घूम रहे लोग मानव बम
बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जमातों में घूम रहे लोग मानव बम की तरह हैं. उन लोगों को अपने आप प्रशासन के सामने आत्मसमर्पण कर देना चाहिए. प्रशासन उनको आइसोलेशन में रखेगा और उनके स्वास्थ्य की चिंता करेगा,जिससे समाज में संक्रमण न फैले. उन्होंने इंदौर के लोगों से कहा कि यदि यहां के कुछ लोग दिल्ली के तबलीगी जमात के कार्यक्रम में गए हों तो उनको अपने आपको प्रशासन के सामने सरेंडर कर देना चाहिए. प्रशासन उन पर आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं करेगा बल्कि उनकी मेडिकल मदद कर उनका इलाज करेगा.



घटना में शामिल लोगों पर होगी सख्त कार्रवाई


वहीं, टाटपट्टी बाखल में सर्वे करने पहुंचे एएनएम कार्यकर्ता और स्वास्थ्य कर्मियों के साथ मारपीट और पथराव जैसी घटना से आहत इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने इंदौर के लोगों से सवाल किया है कि आखिर हम काम किसके लिए कर रहे हैं. कलेक्टर ने कहा कि इस घटना को टोलरेट नहीं किया जाएगा. इस तरह की बदतमीजी बर्दाश्त नहीं होगी. ऐसे लोगों पर सख्त कार्यवाही की जाएगी उक्त कृत्य करने वाले सभी जेल जाएंगे और जल्दी नहीं छूटेंगे. कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि उन्होंने पैरा मिलिट्री फोर्स की पांच कंपनियां मांगी हैं जिन्हे ऐसे इलाकों में तैनात किया जाएगा.

 

ये भी पढ़ें: COVID-19: इंदौर में डॉक्टरों की टीम पर हमले से दुखी हुए शायर राहत इंदौरी, दिया ये बयान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 2, 2020, 8:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading