17 साल बाद: लड़की ने पहचाना रेप करने वाले को, पुलिस को बताई उस दिन की खौफनाक कहानी

इंदौर में युवती ने सालों बाद अपना रेपिस्ट पहचान लिया और मामला दर्ज कराया. (सांकेतिक तस्वीर)

इंदौर में युवती ने सालों बाद अपना रेपिस्ट पहचान लिया और मामला दर्ज कराया. (सांकेतिक तस्वीर)

17 साल बाद: ट्रॉमा से निकली लड़की ने सोशल मीडिया पर अपना रेपिस्ट पहचान लिया. उसने इंदौर पुलिस को पूरी कहानी बताई और FIR दर्ज कराई. उसकी कहानी सुनकर पुलिस भी हैरान है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2021, 8:03 AM IST
  • Share this:

इंदौर. रेप के बाद लड़की ट्रॉमा में चली गई थी. उसे लगा था कि अब जिंदगी करीब-करीब खत्म हो गई है. लेकिन, जैसे ही उसकी जिंदगी में धीरे-धीरे सुधार हुआ तो उसने बड़ा कदम उठाया. लड़की ने अपने साथ दुष्कर्म का राज 17 साल बाद खोला और मध्य प्रदेश के इंदौर में FIR दर्ज कराई. 39 साल की इस लड़की की कहानी आपको हैरान कर देगी.

दरअसल, नीमच की रहने वाली कुसुम (परिवर्तित नाम) को  रतलाम के सुनील ने साल 2004 में इंदौर बुलाया था. यहां उसने एक दफ्तर में कुसुम का रेप किया और भाग गया. कुसुम को उस वक्त कुछ समझ नहीं आया था और वो बेसुध हो गई थी. उसने जीना ही छोड़ दिया था. लेकिन, समय के साथ जख्म भर गए. कहानी में ट्विस्ट उस वक्त आया जब कुसुम ने 17 साल बाद सोशल मीडिया पर आरोपी सुनील की फोटो देखी और इंदौर पुलिस को शिकायत की.

ये है उस दिन की डरावनी कहानी

युवती ने पुलिस को बताया कि बात 2004 की है. उस वक्त उसकी उम्र 22 साल की थी. एक दिन उसके घर एक रॉन्ग नंबर आया. उस तरफ से शख्स बता रहा था कि वह नौकरी देता है. चूंकी मैं छोटी और पढ़ाई भी करना चाह रही थी इसलिए उसकी बातों में आ गई. आरोपी शख्स उससे कहता है कि वह अभी इंदौर में है. यहां एक दफ्तर में काम है और अच्छा पैसा भी मिलेगा. कुसुम ने टीआई ज्योति शर्मा को बताया कि उसे आरोपी ने सपना-संगीता रोड स्थित एक दफ्तर में बुलाया. तय समय के मुताबिक वह रात 8 बजे वहां पहुंच गई. उस वक्त आरोपी ने उसे जान से मारने की धमकी दी और दुष्कर्म कर भाग गया. ऑफिस से बाहर आकर लड़की ने एक दूसरे लड़के से मदद मांगी और भाई को बुलाकर सदमे की हालत में घर चली गई.
पुलिस ने हर बार किया अनसुना

कुसुम ने पुलिस को बताया कि उसने रतलाम और नीमच पुलिस को कई बार शिकायत की. लेकिन पुलिसकर्मियों ने हर बार यह कहकर अनसुना कर दिया कि जब आरोपी का पता ही नहीं, तो केस दर्ज कैसे करें. युवती ने कई बार गुहार लगाई. आखिरकार जब केस दर्ज नहीं हुआ, तो वह निराश होकर सदमे में चली गई और कई सालों बाद सामान्य हुई.

सोशल मीडिया पर पहचाना आरोपी



कुसुम ने बताया कि फिलहाल वह नीमच में ही रहती है. उसने जब अपना सोशल मीडिया अकाउंट बनाया तो अचानक 17 साल बाद आरोपी का चेहरा सामने आ गया. आरोपी को देखकर वह उसे पहचान गई. उसकी पहचान सुनील के रूप में हुई. आखिरकार उसने इंदौर पुलिस के अफसरों से संपर्क किया और केस दर्ज करवाया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज