अपना शहर चुनें

States

पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 15 अवैध हथियार समेत 5 बदमाश गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच आरोपियों से कर रही है पूछताछ.
क्राइम ब्रांच आरोपियों से कर रही है पूछताछ.

क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने पांच अवैध हथियार तस्करों (Illegal Weapons Smugglers) को गिरफ्तार किया. इस दौरान उसने 15 अवैध हथियार और तीन जिंदा कारतूस बरामद किए हैं.

  • Share this:
इंदौर. मध्‍य प्रदेश के मिनी मुंबई यानी इंदौर शहर में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने साल 2019 में कई बार बड़ी कार्रवाई करते हुए अवैध हथियार तस्करों (Illegal Weapons Smugglers) को गिरफ्तार किया. कई सैकड़ा अवैध हथियार भी जब्‍त किए. जबकि साल के अंत में भी क्राइम ब्रांच ने शहर में अवैध हथियार सप्लाई करने की नियत से दाखिल हुए पांच आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए उनसे 15 अवैध हथियार और तीन जिंदा कारतूस बरामद किए हैं. आरोपी धार जिले से इंदौर आकर विभिन्न थानों के हिस्ट्रीशीटर बदमाशों को हथियार सप्लाई करते थे.

कमलनाथ के निर्देश का दिख रहा है असर
मुख्यमंत्री कमलनाथ (Chief Minister Kamal Nath) के निर्देश पर पूरे प्रदेश में माफियाओ के विरूद्ध जंग जारी है और माफियाओं का साम्राज्य को ध्वस्त किया जा रहा है. शहर से कई माफिया इन दिनों गायब हैं, तो कुछ चोरी छिपे अब भी आपराधिक मंसूबों को पूरा करने में लगे हुए हैं. इसी सिलसिले में क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि धार जिले के कुछ लोगों से इंदौर के बदमाश ने हथियार मंगाए हैं और इन हथियारों के बल पर बदमाश आने वाले समय में शहर में उत्पात मचा सकते हैं.

ऐसे पुलिस के कब्‍जे में आए बदमाश
तीन बदमाश शहर में अवैध हथियार सप्लाई करने पहुंचे थे और पुलिस ने आरोपियों को घेराबंदी कर पकड़ लिया. इसके साथ ही मंगाए गए हथियार लेने पहुंचे दोनों बदमाशों को भी पुलिस ने मौके से ही पकड़ लिया. हालांकि पुलिस की कार्रवाई देखते ही मौके पर हड़कंप मच गया और कई बदमाश खड़े हुए. पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों को रिकार्ड खंगाला तो पता चला कि आरोपी पूर्व में भी हथियार सप्लाई करने के जुर्म में गिरफ्तार हो चुके हैं.



पुलिस ने कही ये बात
इंदौर क्राइम ब्रांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र सिंह के मुताबिक शहर के अलग-अलग थाना पुलिस के साथ संयुक्त कार्रवाई करते हुए 8 पिस्टल और सात कट्टे बरामद किए हैं. आरोपी खुद हथियार बनाते थे और आसपास के इलाकों में बेचते थे. पुलिस सभी आरोपियों से फिलहाल पूछताछ कर जानकारी जुटा रही है. आखिर पूर्व में शहर में किन किन बदमाशों को हथियार सप्लाई किए थे. हैरानी की बात ये है कि ये सभी हथियार है एकदम विदेशी हथियारों की तर्ज पर बनाये गए थे.

ये भी पढ़ें-

बांस उद्योग के जरिए बेरोजगारी पर लगाम लगाएगी सरकार, छिंदवाड़ा में शुरू होगा पायलट प्रोजेक्ट

हनी ट्रैपः मानव तस्करी मामले में एक IAS अफसर से वसूले 1 करोड़ रुपए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज