होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /

केला फसल बर्बाद होने पर मुख्यमंत्री की घोषणा के बावजूद मुआवजा ना मिलने से गुस्साए किसान

केला फसल बर्बाद होने पर मुख्यमंत्री की घोषणा के बावजूद मुआवजा ना मिलने से गुस्साए किसान

आंधी से चौपट हुई किसानों की केला फसल का फाइल फोटो

आंधी से चौपट हुई किसानों की केला फसल का फाइल फोटो

बुरहानपुर में जून महीने में तीन बार आई आंधी तुफान से 4 हजार केला किसानों की करीब 3200 हेक्टयर से अधिक रकबे में लगी करोड़ों रुपये की केला फसल तबाह हो गई थी. लेकिन खुद सीएम के ऐलान के बाद मुआवजा ना मिलने से केला किसानों में भारी आक्रोश है.किसानों ने सरकार को 17 जुलाई तक का अल्टीमेटम दिया है कि अगर मुआवजा नहीं मिला तो किसान उग्र आंदोलन करेंगे.

अधिक पढ़ें ...
    बुरहानपुर में जून महीने में तीन बार आए आंधी तूफान से 4 हजार केला किसानों की करीब 3200 हेक्टयर से अधिक रकबे में लगी करोड़ों रुपये की केला फसल तबाह हो गई थी. खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आकर इन फसलों को देखा और केला किसानों को पहली बार बढ़ी राशि का मुआवजा देने की घोषणा की. लेकिन सीएम की घोषणा के एक महीने के बाद भी किसानों के हाथ खाली हैं. किसानों ने सरकार को 17 जुलाई तक का अल्टीमेटम दिया है कि अगर मुआवजा नहीं मिला तो किसान उग्र आंदोलन करेंगे. कांग्रेस ने भी किसानों के सुर में सुर मिला दिया है. जबकि बीजेपी ने दावा किया है जैसे ही कैबिनेट की बैठक होगी, वैसे ही केला प्रभावित किसानों को मुआवजा राशि मिल जाएंगी.

    बुरहानपुर में जून महीने में तीन बार आई तेज आंधी तुफान ने करीब दो दर्जन से अधिक गांव में लगी 4000 किसानों की करोड़ों रुपये की केला फसल तबाह कर दी.सीएम ने घोषणा की तो केला उत्पादक किसानों को नई उम्मीद बंधी. लेकिन अब नया सीजन शुरू हो गया और सीएम शिवराज सिंह चौहान की घोषणा को भी एक महीने का समय हो गया. लिहाजा इसकी याद दिलाने किसान संगठनों ने कलेक्टर से मुलाकात की. किसानों ने शासन प्रशासन को चेताया अगर 17 जुलाई तक किसानों को मुआवजा राशि का वितरण नहीं किया जाता है तो किसान उग्र आंदोलन करेंगे. कांग्रेस ने भी किसानों के इस ऐलान का समर्थन करते हुए जरूरत पड़ी तो किसानों के साथ आंदोलन में कुदने का ऐलान कर दिया है

    उधर बीजेपी ने अपने सीएम और सरकार का बचाव करते हुए कहा कि अब तक केले पर आरबीसी कानून के तहत मुआवजे का भुगतान किया जाता था लेकिन पहली बार सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसमें बदलाव करते हुए एक लाख रुपये हेक्टयर के हिसाब से मुआवजा देने का ऐलान किया है. जिसको कैबिनेट में पास कराने और एक-एक केला किसान के खेत का सर्वे करने का समय लगता है. लेकिन जल्द  ही कैबिनेट में पास कर केला उत्पादक किसान, जिनकी केला फसल तबाह हुई है. उन्हें मुआवजा राशि का भुगतान किया जाएगा.

    Tags: Shivraj singh chouhan

    अगली ख़बर