लाइव टीवी
Elec-widget

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय का चला सिक्‍का, A+ ग्रेड हासिल कर रचा इतिहास

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 26, 2019, 8:53 PM IST
देवी अहिल्या विश्वविद्यालय का चला सिक्‍का, A+ ग्रेड हासिल कर रचा इतिहास
देवी अहिल्या विश्वविद्यालय को कुल 3,138 अंक मिले हैं.

इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (Devi Ahilya University) को राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (National Assessment and Accreditation Council) ने ए प्‍लस (A+) ग्रेड प्रदान की है. ऐसा मुकाम हासिल करने वाला यह प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय है.

  • Share this:
इंदौर. राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (National Assessment and Accreditation Council) यानी नैक ने इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (Devi Ahilya University) को ए प्‍लस (A+) ग्रेड प्रदान की है. इसके बाद यह विश्वविद्यालय मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) और छत्तीसगढ़ का प्रथम विश्वविद्यालय बन गया जिसे A+ ग्रेड प्राप्त हुआ है. आपको बता दें कि 21, 22 और 23 नवम्बर 2019 को आठ सदस्यों की नैक पियर टीम ने विश्वविद्यालय का दौरा किया था.

विश्वविद्यालय को मिले इतने अंक
देवी अहिल्या विश्वविद्यालय को कुल 3,804 अंको में 3,138 अंक प्राप्त हुए है और इस प्रकार करीब 82 प्रतिशत अंक प्राप्त कर विश्वविद्यालय ने A+ ग्रेड का दर्जा हासिल किया. A+ का दर्जा प्राप्त करने के बाद विश्वविद्यालय को कई सुविधाओं की पात्रता हो गई है.

अब ये सुविधाएं मिलेंगी

>>विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अंतर्गत मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रमों को देवी अहिल्या विश्वविद्यालय बगैर यूजीसी की अनुमति के प्रारंभ कर सकता है.
>>ओपन डिस्टेंस लर्निंग (दूरस्थ शिक्षा) के पाठ्यक्रम प्रारंभ करने की पात्रता विश्वविद्यालय को मिल गई है.
>> A+ ग्रेड प्राप्त विश्वविद्यालय, वर्ग 2 की ग्रेडेड स्वायत्तता प्राप्त विश्वविद्यालय की श्रेणी में आते हैं. इस श्रेणी में आने वाले राज्य विश्वविद्यालयों को रूसा के कम्पोनेन्ट 10 के अंतर्गत प्रत्येक को 50 करोड़ रुपये के अनुदान की पात्रता स्वतः हो जाती है.
Loading...

> A+ ग्रेड प्राप्त विश्वविद्यालय अपने यहां स्वीकृत शिक्षकों के पद के 20 प्रतिशत तक विदेशी शिक्षकों को आमंत्रित कर सकते हैं.

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, Devi Ahilya University, A Plus Grade, Madhya Pradesh, ए प्‍लस ग्रेड, मध्‍य प्रदेश
विश्वविद्यालय में जमकर मना जश्‍न.


जमकर मना जश्न
मध्य प्रदेश के सबसे बड़े इस विश्वविद्यालय को पांच साल पहले 2014 में ए ग्रेड मिला था, लेकिन इस बार ए प्लस ग्रेड की जानकारी मिलते ही यूनिवर्सिटी के दोनों कैंपस में जश्न का महौल देखा गया. विश्विद्यालय परिसर में छात्रों और प्रोफेसरों ने एक-दूसरे को बधाई देकर खुशी का इजहार किया. इस दौरान जमकर आतिशबाजी हुई और मिठाई बांटी गई. कुलपति रेणु जैन की छुट्टी की वजह से प्रभारी कुलपति प्रोफेसर अशोक शर्मा पहले तक्षशिला कैंपस में प्रोफेसरों के साथ जश्न में शामिल हुए और फिर दोपहर बाद नालंदा कैंपस में भी जश्न मना, जिसमें बड़ी संख्या में छात्र और प्रोफेसर शामिल हुए.

पिछले पांच सालों में बदल गई तस्वीर
साल 2014 में देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में 165 कोर्स संचालित हो रहे थे, जो अब 215 हो गए हैं. पिछले पांच सालों में बीए और बीएससी ऑनर्स जैसे अहम कोर्स के साथ 8 नए एमबीए कोर्स भी शुरू किए गए, वहीं महज दो विभागों तक सीमित च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम अब सभी 29 विभागों में लागू हो गया. पांच साल में छात्र संख्या 8380 से 11 हजार 500 पहुंच गई है और औसत प्लेसमेंट 54 से 71 फीसदी तक हो गया है. उधर 212 प्रोफेसरों के 2 हजार से ज्यादा रिसर्च पेपर पब्लिश हुए हैं.

ये भी पढ़ें
ज्योतिरादित्य सिंधिया ही नहीं MP के ये दिग्‍गज नेता भी कर चुके हैं अपने Twitter बायो में बदलाव

हनी ट्रैप केस में ED की एंट्री! SIT से मांगी महिला आरोपियों से संबंधित ये जानकारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 8:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...