कलेक्टर के रवैये से नाराज़ इंदौर की स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पूर्णिमा गड़रिया ने दिया इस्तीफा

डॉ पूर्णिमा गड़रिया ने अपना इस्तीफा स्वास्थ्य आयुक्त को भेज दिया है.

डॉ पूर्णिमा गड़रिया ने अपना इस्तीफा स्वास्थ्य आयुक्त को भेज दिया है.

Indore Medical Officer News: डॉ. पूर्णिमा गड़ेरिया के अलावा मानपुर मेडिकल ऑफिसर डॉ आर.एस. तोमर ने भी काम करने में असमर्थता जताई है. उन्होंने इसके लिए एसडीएम अभिलाष मिश्रा को जिम्मेदार ठहराया है.

  • Share this:

इंदौर. मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बीच इंदौर की जिला स्वास्थ्य अधिकारी (Health officer) पूर्णिमा गड़रिया ने नौकरी से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने इसके लिए कलेक्टर मनीष सिंह को ज़िम्मेदार ठहराया है. डॉ गड़रिया ने स्वास्थ्य आयुक्त को अपना इस्तीफा भेज दिया है.

डॉ पूर्णिमा गड़रिया ने इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह पर गम्भीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा- काम बिगड़ने पर कलेक्टर स्वास्थ्य विभाग पर आरोप लगा देते हैं. कलेक्टर के रवैये से नाराज होकर डॉ गड़रिया ने स्वास्थ्य आयुक्त को अपना इस्तीफा भेज दिया है. गड़रिया के मुताबिक कुछ समय पूर्व कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा था कि नौकरी छोड़ दो या मैं तुम्हें सस्पेंड कर दूंगा. उसके बाद पूर्णिमा गड़रिया ने इस्तीफा दे दिया.

बैठक में CMHO को फटकारा था

कलेक्टर मनीष सिंह की कार्यशैली से अफसरों में नाराज़गी है. इससे पहले उन्होंने तत्कालीन सीएमएचओ प्रवीण जड़िया को भी भरी मीटिंग में फटकारा था. उस वक़्त डॉ जड़िया मीटिंग में रो पड़े थे और बीमारी का हवाला देकर अवकाश पर चले गए थे. उसके बाद ड़ॉ पूर्णिमा गड़रिया को सीएमएचओ का चार्ज सौंपा गया था.


मेडिकल ऑफिसर भी परेशान

इधर, मानपुर मेडिकल ऑफिसर डॉ आर. एस.तोमर ने भी काम करने में असमर्थता जताई है. उन्होंने इसके लिए एसडीएम अभिलाष मिश्रा को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के नाम पत्र लिखा है. डॉ तोमर ने एसडीएम पर अमर्यादित व्यवहार करने का आरोप लगाया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज