स्मार्ट सिटी इंदौर में कुत्तों को आतंक, रोज 70-80 लोग हो रहे शिकार

इंदौर में स्वच्छता के मामले में दो बार प्रथम स्थान पर आ चुका है तो दूसरी ओर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर में कई विकास कार्य भी किए जा रहे हैं.लेकिन शहरवासी इन दिनों बेहद परेशानी के दौर से गुजर रहे हैं.इंदौर शहर में कुत्तों का आतंक चरम पर है.

Satlaj Rahat | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 14, 2018, 7:43 PM IST
स्मार्ट सिटी इंदौर में कुत्तों को आतंक, रोज 70-80 लोग हो रहे शिकार
इंदौर शहर में कुत्ते काटे पीड़ित को एंटी रैबीज लगाते हुए
Satlaj Rahat | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 14, 2018, 7:43 PM IST
इंदौर में स्वच्छता के मामले में दो बार प्रथम स्थान पर आ चुका है तो दूसरी ओर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर में कई विकास कार्य भी किए जा रहे हैं.लेकिन शहरवासी इन दिनों बेहद परेशानी के दौर से गुजर रहे हैं.इंदौर शहर में कुत्तों का आतंक चरम पर है.कुत्ते शहर में लगातार लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं और घायल लोग अस्पताल की तरफ रुख कर रहे हैं.इसपर निगम के जिन्मेदारों का कहना है की इसके लिए टीम का गठन कर रोजाना कारवाई की जा रही है.

शहर की सड़कों और गलियों में इन दिनों सफाई व्यवस्था भले ही चाक चौबंद दिखाई दे रही है लेकिन रात हो या दिन कुत्ते लोगों को अपना शिकार बनाकर घायल कर रहे रहे हैं.खतरनाक हो चुके कुत्ते इन दिनों करीब 70 से 80 लोगों को रोजाना अपना शिकार बना रहे हैं. बड़ी संख्या में घायल लोग इलाज के लिए शहर के हुकुमचंद पॉली क्लिनिक में पहुच रहे हैं.इतनी बड़ी संख्या में कुत्ता काटे लोगों के पहुंचने से डॉक्टर भी बेबस नजर आ रहे हैं.

एंटी रैबीज इंजेक्शन ना होने से लोगों को यहां से मायूस ही लौटना पड़ रहा है जिससे कि रैबीज का खतरा लगातार बढ़ रहा है. डॉक्टरों का यह भी कहना है की वह लगातार निगम के आला अधिकारियों को ख़त लिखकर श्वानों पर कारवाई करने के लिए आग्रह कर चुके है लेकिन बावजूद निगम अभी तक इसको लेकर एक्शन के मूड में नहीं आया है जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर