Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    COVID 19: इंदौर में जनता की मदद के लिए सड़क पर उतरा प्रशासन, सब्जी और दूध के लिए कराई ये व्यवस्था

    सब्जी और दूध के लिए प्रशासन ने वार्डों में कराई व्यवस्था
    सब्जी और दूध के लिए प्रशासन ने वार्डों में कराई व्यवस्था

    इंदौर में कर्फ्यू (Curfew) में ढील के दौरान बड़ी संख्या में लोग सब्जी, दूध और दवा लेने अपने घरों से निकले. लोगों की सुविधा के लिए नगर निगम ने होम डिलीवरी की व्यवस्था कर दी है. डिलीवरी करने वालों को परिचय पत्र दिये गए हैं.

    • Share this:
    इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर नगर निगम के कमिश्नर आशीष सिंह के मुताबिक कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जारी कर्फ्यू के दौरान शहर में लोगों के घरों तक सब्जी पहुंचाने की व्यवस्था की गई है. इस काम में 200 लोडिंग रिक्शा और 600 हाथ ठेलों को लगाया गया है. कोरोना वायरस के कारण लगाए गए कर्फ्यू के दौरान इंदौर में लोगों को परेशान न होना पड़े इसके लिए नगर निगम डोर टू डोर कचरा वाहन के 100 मीटर पीछे सब्जियों के वाहन चला रहा है. इन वाहनों को जोनल अधिकारी द्वारा अधिकृत लेटर भी दिये गये हैं.

    सब्जी और दूध के वितरण के लिए हर वार्ड में 5 स्थान
    नगर निगम शहर में 425 स्थान चिन्हित किए हैं जहां सब्जी और दूध की दुकानें लगवाई गईं हैं. कर्फ्यू ढील के दौरान हर वार्ड में 5 स्थानों पर ये दुकानें लगाई जा रहीं हैं, जिनमें सोशल डिस्टेंसिंग का खास ख्याल रखा जा रहा है. लोग मास्क लगाकर एक निश्चित दूरी पर बने गोलों में खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं और सामान खरीद रहे हैं. वहीं नगर निगम ने शहर के सभी जोन की किराना दुकानों की सूची तैयार कर उसे 311 एप पर डाल दिया है. इन दुकानों पर लोग फोन पर सामान नोट करवा सकते हैं, वे सामान घर तक पहुंचा देंगे.

    स्वास्थ्य विभाग ने 20 लोगों को खोजा
    कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आए लोगों की शहर में लगातार खोजबीन की जा रही है. इस दौरान सीएमएचओ और उनकी टीम ने अब तक 20 लोगों को ढूंढ निकाला है, जो कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आए थे. 19 लोगों को खण्डवा रोड़ पर 9 मील फाटे के पास बने शासकीय हॉस्टल में आइसोलेट किया गया है, तो वहीं एक व्यक्ति को सीएचएल हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है.



    ये भी पढ़ें -
    MP में कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की संख्या बढ़कर 29 हुई, भोपाल में मिला तीसरा पेशेंट
    कोरोना से निपटने के लिए डॉक्टरों की नियुक्ति पर विवाद, जानिए ये है मसला
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज