होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Dussehra 2022 : इंदौर में 111 फीट के रावण पुतले का दहन, फिर बंटे 151 किलो गिलकी के भजिए

Dussehra 2022 : इंदौर में 111 फीट के रावण पुतले का दहन, फिर बंटे 151 किलो गिलकी के भजिए

Ravan Dahan in Indore. बारिश ने इस आयोजन में कुछ खलल भी डाला, लेकिन लोगों का उत्‍साह कम नहीं हुआ. रावण दहन के आयोजन के कारण यहां दशहरा मैदान वाले रास्ते पर ट्रैफिक भी डायवर्ट किया गया था. कई लोग अपने परिवार के साथ तो कई लोग अपने दोस्तों के साथ यहां पहुंचे. छोटे बच्चों को लेकर आए परिवार के लोगों ने बच्चों को कंधे पर बैठाकर रावण दहन दिखाया. शहर में सौ से ज्यादा स्थानों पर रावण, मेघनाथ और कुंभकरण के पुतले जलाए गए. इसमें सबसे आकर्षण का केंद्र वो पुतला रहा जिसमें रावण को लंपी वायरस के रूप में दिखाया गया था और वैक्सीन के रूप में मशाल थी.

Ravan Dahan in Indore. बारिश ने इस आयोजन में कुछ खलल भी डाला, लेकिन लोगों का उत्‍साह कम नहीं हुआ. रावण दहन के आयोजन के कारण यहां दशहरा मैदान वाले रास्ते पर ट्रैफिक भी डायवर्ट किया गया था. कई लोग अपने परिवार के साथ तो कई लोग अपने दोस्तों के साथ यहां पहुंचे. छोटे बच्चों को लेकर आए परिवार के लोगों ने बच्चों को कंधे पर बैठाकर रावण दहन दिखाया. शहर में सौ से ज्यादा स्थानों पर रावण, मेघनाथ और कुंभकरण के पुतले जलाए गए. इसमें सबसे आकर्षण का केंद्र वो पुतला रहा जिसमें रावण को लंपी वायरस के रूप में दिखाया गया था और वैक्सीन के रूप में मशाल थी.

Ravan Dahan in Indore. बारिश ने इस आयोजन में कुछ खलल भी डाला, लेकिन लोगों का उत्‍साह कम नहीं हुआ. रावण दहन के आयोजन के ...अधिक पढ़ें

इंदौर. इंदौर में हंसी खुशी के साथ दशहरा मनाया गया. लेकिन बारिश ने लोगों के उल्लास में भरपूर खलल डाला. मुख्य समारोह दशहरा मैदान में 111 फीट ऊंचा रावण का पुतला दहन किया गया. शहर में कुल 100 से ज्यादा जगहों पर छोटे बड़े रावण के पुतले जलाए गए. लंपी और कोरोना वायरस का वैक्सीन की मशाल से दहन किया गया.

विजयादशमी पर मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर के दशहरा मैदान पर परंपरानुसार रावण का दहन किया गया. यहां 111 फीट का रावण बनाया गया था. पारंपरिक रूप से यहां पहले शोभायात्रा निकाली गई. उसके बाद हनुमान जी ने लंका दहन किया और राम-लक्ष्मण ने तीर मारकर रावण का दहन किया. इस दौरान बड़ी संख्‍या में लोग आयोजन देखने पहुंचे.

बारिश ने डाला खलल
बारिश ने इस आयोजन में कुछ खलल भी डाला, लेकिन लोगों का उत्‍साह कम नहीं हुआ. रावण दहन के आयोजन के कारण यहां दशहरा मैदान वाले रास्ते पर ट्रैफिक भी डायवर्ट किया गया था. कई लोग अपने परिवार के साथ तो कई लोग अपने दोस्तों के साथ यहां पहुंचे. छोटे बच्चों को लेकर आए परिवार के लोगों ने बच्चों को कंधे पर बैठाकर रावण दहन दिखाया. शहर में सौ से ज्यादा स्थानों पर रावण, मेघनाथ और कुंभकरण के पुतले जलाए गए. इसमें सबसे आकर्षण का केंद्र वो पुतला रहा जिसमें रावण को लंपी वायरस के रूप में दिखाया गया था और वैक्सीन के रूप में मशाल थी.

ये भी पढ़ें- Dussehra 2022 : बारिश ने दशहरे पर फेर दिया पानी, भीग गए रावण, मेघनाथ, कुंभकरण के पुतले

लंपी रावण का वैक्सीन की मशाल से दहन
शहर की श्रीकृष्ण टॉकिज के सामने नगर निगम रोड पर लंपी वायरस रूपी रावण का दहन किया गया. रावण दहन के साथ ही गौमाता की रक्षा का संदेश और वायरस खत्म होने की कामना की गई. रावण दहन से पहले श्रीराम, लक्ष्मण और हनुमानजी की शोभायात्रा निकाली गयी. देवास के समूह ने प्रस्तुति दी. लंपी वायरस रूपी रावण का दहन महामंडलेश्वर राधे राधे बाबा ने वैक्‍सीन रूपी मशाल से किया. रावण दहन के साथ जमकर आतिशबाजी भी हुई और देवास औैर मुंबई के कलाकारों ने रंगारंग प्रस्तुति भी दी.

151 किलो गिलकी के भजिए
रावण दहन के बाद परंपरा के मुताबिक इंदौर में 151 किलो गिलकी के भजिये का वितरण भी किया गया. रावण दहन से पूर्व आकर्षक आतिशबाजी की गयी. संयोजक शिव सिंह के अनुसार रावण दहन के पूर्व रामजी की शोभायात्रा भी प्रतिकात्मक रूप से निकाली गई.

Tags: Dussehra Festival, Indore news, Madhya pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें