• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • बंद के कारण एमपी की आर्थिक राजधानी इंदौर में करोड़ों का नुकसान, कारोबार रहा ठप!

बंद के कारण एमपी की आर्थिक राजधानी इंदौर में करोड़ों का नुकसान, कारोबार रहा ठप!

File Photo

पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया कि बंद को देखते हुए शहर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे. फिलहाल शहर में बंद के दौरान किसी भी अप्रिय घटना की खबर नहीं है.

  • Share this:
    अनुसूचित जाति-जनजाति (अत्याचार निरोधक) कानून में केंद्र सरकार के संशोधनों के खिलाफ सवर्ण समाज द्वारा बुलाए गए बंद के दौरान इंदौर की प्रमुख मंडियों और बाजारों में आधे दिन तक कारोबार ठप रहा. इससे करोड़ों रुपए के कारोबार पर असर पड़ा.

    अहिल्या चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एन्ड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष रमेश खंडेलवाल ने बताया कि एससी/एसटी कानून में संशोधनों के खिलाफ आधे दिन तक स्थानीय मंडियां और बाजार बंद रखने की अपील को करीब 110 कारोबारी संगठनों ने अपना समर्थन दिया.

    खंडेलवाल ने बताया, "आधे दिन के बंद के दौरान दौरान शहर में किराना जिंसों, अनाजों, दाल-दलहनों, जेवरात, बर्तनों, लोहा उत्पादों, कपड़ों आदि के प्रमुख कारोबारी केंद्रों में सन्नाटा पसरा रहा."


    बंद के मद्देनजर गुरुवार को शहर के अधिकांश स्कूल भी नहीं खुले. आम दिनों के मुकाबले सड़कों पर यातायात में थोड़ी कमी दिखायी दी.

    अनारक्षित समुदाय के अलग-अलग संगठनों ने अनुसूचित जाति-जनजाति (अत्याचार निरोधक) कानून में सरकार के संशोधनों के खिलाफ गहरा आक्रोश जताते हुए विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी की. प्रदर्शनकारियों ने सरकार से मांग की कि इन विवादास्पद संशोधनों को जल्द से जल्द वापस लिया जाए.

    इस बीच, पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया कि बंद को देखते हुए शहर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे. फिलहाल शहर में बंद के दौरान किसी भी अप्रिय घटना की खबर नहीं है. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन