BJP सांसद के बाद सुमित्रा महाजन को भी रास नहीं आई ट्रेनों में मालिश योजना, पूछे ये सवाल

सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) ने भी इस सिलसिले में रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर सवाल पूछे हैं.

News18Hindi
Updated: June 15, 2019, 9:27 PM IST
BJP सांसद के बाद सुमित्रा महाजन को भी रास नहीं आई ट्रेनों में मालिश योजना, पूछे ये सवाल
सुमित्रा महाजन ने पूछा कि क्या इंदौर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर मसाज पार्लर खोले जाने का भी कोई प्रस्ताव है? (File Photo)
News18Hindi
Updated: June 15, 2019, 9:27 PM IST
मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर से चलने वाली 39 रेलगाड़ियों में सफर के दौरान यात्रियों को मालिश की सुविधा देकर अतिरिक्त राजस्व कमाने की रेलवे की योजना पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं. क्षेत्रीय बीजेपी (BJP) सांसद शंकर लालवानी (Shankar Lalwani) के बाद बीजेपी नेता सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) ने भी सवाल उठाए हैं. सुमित्रा महाजन ने इस सिलसिले में रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखा. महाजन के स्थानीय कार्यालय के एक कर्मचारी ने यह पत्र लिखे जाने की शनिवार को पुष्टि की. पत्र में सुमित्रा ताई ने गोयल से जानना चाहा है कि क्या पश्चिम रेलवे के रतलाम रेल मंडल की प्रस्तावित मालिश योजना को रेल मंत्रालय ने मंजूरी दी है?

महाजन ने पत्र में पूछा है कि इस प्रकार की (मालिश) सुविधा के लिए चलती रेलगाड़ी में किस तरह की व्यवस्था की जाएगी क्योंकि इससे यात्रियों, विशेषकर महिलाओं की सुरक्षा एवं सहजता के संबंध में कुछ प्रश्न हो सकते हैं. सुमित्रा महाजन ने अपने पत्र में रेल मंत्री से यह भी जानना चाहा है कि क्या इंदौर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर मसाज पार्लर खोले जाने का भी कोई प्रस्ताव है?

'रेलवे की प्रस्तावित मालिश सेवा स्तरहीन'
महाजन से पहले, इंदौर क्षेत्र के नवनिर्वाचित भाजपा सांसद शंकर लालवानी भी मसाज योजना पर रेल मंत्री को पत्र लिख चुके हैं. लालवानी ने गोयल को 10 जून को लिखे पत्र में 'भारतीय संस्कृति के मानकों' का हवाला देते हुए रेलवे की प्रस्तावित मालिश सेवा को स्तरहीन बताया था. इसके साथ ही, उनसे अनुरोध किया था कि वह इस योजना को लेकर जनमानस की भावनाओं के मुताबिक पुनर्विचार करें.

भारतीय रेलवे के इतिहास में पहली बार पश्चिम रेलवे के रतलाम मंडल ने इंदौर से चलने वाली 39 ट्रेनों में यात्रियों को मालिश की सुविधा देने का प्रस्ताव तैयार किया है. हालांकि, इसे शुरू करने की तारीख की फिलहाल घोषणा नहीं की गई है.


तीन अलग-अलग पैकेज श्रेणियों में शुल्क
बहरहाल, रतलाम रेल मंडल के अधिकारी पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि चलती ट्रेनों में सुबह छह से रात 10 बजे के बीच प्रस्तावित सेवा के तहत यात्रियों के पूरे शरीर की नहीं, बल्कि सिर और पैर जैसे अंगों की मालिश की जाएगी. इस सेवा के बदले यात्रियों से 100 रुपये, 200 रुपये और 300 रुपये की तीन अलग-अलग पैकेज श्रेणियों में शुल्क लिया जाएगा.
अधिकारियों के मुताबिक, प्रस्तावित मालिश सेवा के लिए एक निजी एजेंसी से करार किया गया है. इस सेवा से रेलवे के खजाने में सालाना 20 लाख रुपये जमा होने की उम्मीद है. चलती ट्रेन में यात्रियों को यह सेवा प्रदान करने वाले लोगों को रेलवे अनुमानित तौर पर करीब 20,000 यात्रा टिकट भी बेचेगा. जिससे उसे हर साल लगभग 90 लाख रुपये की अतिरिक्त कमाई होगी.

ये भी पढ़ें-

सुषमा और सुमित्रा पर किया अमर्यादित कमेंट, लगी क्लास

बीजेपी में 'ताई' ही मुझे डांट लगा सकती हैं: पीएम नरेन्द्र मोदी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...