होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Indore News: बुरहानपुर में तेज रफ्तार कंटेनर ने भेड़ों को रौंदा, 25 की मौत, जानलेवा बनी हाईवे की सड़कें

Indore News: बुरहानपुर में तेज रफ्तार कंटेनर ने भेड़ों को रौंदा, 25 की मौत, जानलेवा बनी हाईवे की सड़कें

Burhanpur News:  इस हादसे के बाद भेड़ पालक ने इसकी शिकायत निंबोला थाने में दर्ज करवाई है.

Burhanpur News: इस हादसे के बाद भेड़ पालक ने इसकी शिकायत निंबोला थाने में दर्ज करवाई है.

Burhanpur News: इंदौर इच्छापुर पर हाइवे पर टर्न बहुत ज्यादा होने और रोड खराब होने के कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती ह ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- अंकुश मोरे

बुरहानपुर. इंदौर इच्छापुर हाईवे स्थित निंबोला ब्रिज पर एक कंटेनर चालक ने लापरवाही से वाहन चलाते हुए 25 से अधिक भेड़ों को रौंद दिया. हादसे में भेड़ों की मौत हो गई. जिसके कारण हाईवे पर 1 किलोमीटर तक जाम की स्थिति बनी रही. पुलिस जवानों द्वारा बड़ी मशक्कत के बाद जाम की स्थिति को खत्म करवाया. सड़क पर मृत भेड़ों के शव बिखरे हुए नजर आए. इस हादसे के बाद भेड़ पालक ने इसकी शिकायत निंबोला थाने में दर्ज करवाई है.

मिली जानकारी के अनुसार, शुक्रवार करीब दो बजे खंडवा से बुरहानपुर की ओर जा रहा तेज रफ्तार कंटेनर भेड़ों के झुंड में जा घुसा. इस हादसे में करीब 25 से अधिक भेड़ों की मौत हो गई. इस हादसे के बाद करीब एक घंटे तक हाइवे पर जाम लगा रहा. हादसे की सूचना मिलने पर निंबोला पुलिस मौके पर पहुंची. भेड़ों के मालिक बूटा पिता बाबूराव निवासी मोहद ने बताया कि वह मोहद से बोरगांव बुजुर्ग भेड़ चराने ले जा रहा था तभी निंबोला ओवरब्रिज पर रांग साइड से आए तेज रफ्तार कंटेनर ने भेड़ों को कुचल दिया.

पीड़ित ने बताया कि करीब 3 लाख रुपए से अधिक का नुकसान हुआ है. हादसे की जानकारी मिलने पर पूर्व मंत्री अर्चना चिटनिस दुर्घटनास्थल पर पहुंची और भेड़ पालक बाबूराव से बात की. उन्होंने इस मौके पर दुर्घटनास्थल पर मौजूद कलेक्टर और एसपी से चर्चा कर आरोपी कंटेनर चालक को फौरन गिरफ्तार कर कड़ी कार्यवाही करने की बात कही. साथ ही बुरहानपुर कलेक्टर सहित पशु पालन के अधिकारियों से नुकसान का आंकलन कर मुआवजा देने की बात कही.

खस्ताहाल है हाईवे की सड़कें
गौरतलब है इंदौर इच्छापुर पर हाइवे पर टर्न बहुत ज्यादा होने और रोड खराब होने के कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं. हाइवे पर फिलहाल रोड चौड़ीकरण का कार्य भी किया जा रहा है, लेकिन यह रोड़ दुलार फाटा से बोरगांव बुजुर्ग तक ही अभी तक बना है. इसलिए इस हाइवे पर सफर करने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है साथ ही दुर्घटनाओं का अंदेशा भी अक्सर बना रहता है.

इस रोड पर सड़क हादसों में कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें