लाइव टीवी

मंत्री तुलसी सिलावट के भांजे-भतीजे के ख़िलाफ 24 घंटे बाद FIR दर्ज

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 6, 2019, 5:54 PM IST
मंत्री तुलसी सिलावट के भांजे-भतीजे के ख़िलाफ 24 घंटे बाद FIR दर्ज
मंत्री तुलसी सिलावट के भांजे-भतीजे के ख़िलाफ 24 घंटे बाद FIR दर्ज

इस पूरे बवाल के बाद सीएम कमलनाथ (cm kamalnath) ने ट्वीट (twitter) कर अपनी सख़्ती दिखा दी. उन्होंने कहा- बिना अनुमति के सार्वजनिक स्थानों पर होर्डिंग,पोस्टर,बैनर (banner-poster) लगाने के खिलाफ मैंने कड़ा निर्णय लिया है. स्पष्ट रूप से निर्देश दिये है कि प्रदेश भर से इन्हें तत्काल हटाया जाए.

  • Share this:
इंदौर. स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट (Health minister tulsi silawat) के बैनर पोस्टर विवाद के बाद उनके भांजे राहुल सिलावट और भतीजे चंदू सिलावट सहित 4 लोगों पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है. इंदौर (indore) इन लोगों ने तुलसी सिलावट के जन्मदिन पर बैनर-पोस्टर (banner-poster) लगाए थे. उन्हें हटाने के दौरान सिलावट के भांजे और भतीजे ने नगर निगम कर्मचारियों की लाठी डंडों से पिटाई कर दी थी. उन पर पत्थर भी बरसाए थे.
24 घंटे लगे
मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के भांजे-भतीजे ने मंगलवार को इंदौर नगर निगम कर्मचारियों की डंडे से पिटाई की थी. उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. घटना के 24 घंटे बाद सिलावट के इन दोनों रिश्तेदारों के खिलाफ नगर निगम कर्मचारी एफआईआर दर्ज करवा पाए.
आकाश गए थे जेल

बीजेपी विधायक आकाश विजयर्गीय के बल्लाकांड के बाद उनके खिलाफ तत्काल एफआईआर दर्ज हो गई थी और जेल भी भेज दिया गया था. लेकिन ये मामला मंत्री से जुड़ा होने की वजह से कोई सामने नहीं आना चाह रहा था. ऐसे में महापौर मालिनी गौड़ को हस्तक्षेप करना पड़ा और कमिश्रर आशीष सिंह को निर्देश देने पड़े.
मेयर ने दिए FIR के निर्देश
मेयर मालिनी गौड़ ने निगम कर्मचारियों के साथ मारपीट की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए तत्काल एफआईआर के निर्देश दिए थे. उसके बाद शहर के संयोगितागंज थाने पर एफआईआर दर्ज करा दी गई.मालिनी गौड़ ने कहा था कि सीएम कमलनाथ ने भी शहर के बैनर पोस्टर हटाने के निर्देश दिए थे क्योंकि इससे शहर बदरंग हो रहा था. इसकी खूबसूरती खत्म हो रही थी. शहर को चौथी बार सफाई में नंबर बनाने के लिए शहर की सुंदरता को बनाए रखना सभी का कर्तव्य है. महापौर ने अपील करते हुए कहा कि मैं बीजेपी और कांग्रेस पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं से कहना चाहती हूं कि इस शहर को हमने काफी मेहनत से स्वच्छता में नंबर वन बनाया है.
Loading...

तुलसी सिलावट ने कहा-जो होना था वो हो गया
इस घटना के बाद स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा जो होना था वो हो गया. जितना दुख आपको है उतना ही दुख मुझे भी है. मैंने अपने सभी कार्यकर्ताओं को निर्देश दिए हैं कि किसी के भी जन्मदिन पर बैनर और पोस्टर न लगाएं. बैनर पोस्टर के पैसों से गरीब बस्तियों में जाकर जन्मदिन मनाएं.
सीएम कमलनाथ ने किया ट्वीट
इस पूरे बवाल के बाद सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर अपनी सख़्ती दिखा दी. उन्होंने कहा- बिना अनुमति के सार्वजनिक स्थानों पर होर्डिंग,पोस्टर,बैनर लगाने के खिलाफ मैंने कड़ा निर्णय लिया है. स्पष्ट रूप से निर्देश दिये है कि प्रदेश भर से इन्हें तत्काल हटाया जाए.होर्डिंग पर यदि मेरे भी फ़ोटो लगे हों उन्हें भी हटाने में जरा भी संकोच ना किया जाए.प्रदेश की सुंदरता पर इन अवैध होर्डिंग,पोस्टर,बैनर के कारण दाग लग रहा है.

ये भी पढ़ें-मध्यप्रदेश में नेताओं के भाई-भतीजे अफसरों को खुलेआम दे रहे हैं धमकी, जानें वजह

प्रह्लाद लोधी की याचिका पर सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 5:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...