लाइव टीवी

'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान' को मिली बड़ी सफलता, इंदौर में 10 टन सड़े मेवे जब्‍त

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 23, 2019, 10:10 PM IST
'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान' को मिली बड़ी सफलता, इंदौर में 10 टन सड़े मेवे जब्‍त
खाद्य विभाग ने गोदाम को सील कर दिया है.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मिलावटखोरों के खिलाफ 'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान' जारी है. जबकि जिला प्रशासन (District Administration) और खाद्य विभाग (Food Department) की टीम ने ड्राई फूड कंपनी महाकाल ट्रेडर्स (Mahakal Traders) के गोदाम पर छापा मार कर 10 टन सड़े व बदबूदार बादाम-पिस्ता जब्‍त किए हैं. यह प्रदेश में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) का 'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान' के तहत प्रदेशभर में मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई जारी है. आज इंदौर में जिला प्रशासन (District Administration) और खाद्य विभाग (Food Department) की टीम ने ड्राई फूड कंपनी महाकाल ट्रेडर्स (Mahakal Traders) के गोदाम पर छापा मारा, जिसमें 10 टन सड़े व बदबूदार बादाम-पिस्ता मिले. इस सामान को तत्काल नष्ट कराया गया है. इसके अलावा कंपनी पर जुर्माना भी ठोका गया है.

महाकाल ट्रेडर्स के गोदाम पर पड़ा छापा
दीपावली के त्‍योहार से पहले मिलावटखोरों पर सरकार ने जबदस्त शिकंजा कस दिया है. बुधवार को प्रदेश की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए इंदौर जिला प्रशासन और खाद्य विभाग की टीम ने शहर के हिम्मत नगर में ड्राई फूड कंपनी महाकाल ट्रेडर्स के गोदाम में पर छापा मारा, जहां 10 टन सड़े व बदबूदार बादम, पिस्ता और अखरोट मिले. जबकि अखरोट वर्क और बादाम में फंगस लगी हुई थी. टीम ने ना सिर्फ पूरे माल को नष्ट कराया बल्कि महाकाल ट्रेडिंग कंपनी पर पंद्रह हजार का स्पॉट फाइन भी किया. पिस्ता, बादाम और अखरोट को बाजार में सप्लाई करने के लिए प्रोसेस कर कोल्ड स्टोरेज में रखा गया था. जिला प्रशासन को जानकारी मिली थी कि यहां लम्बे समय से खराब क्वालिटी के ड्राई फूड सप्लाई किए जा रहे हैं. अभी त्‍योहार के समय मिठाई की दुकानों पर सप्लाई करने के लिए बड़ी खेप तैयार थी, लेकिन उससे पहले ही खाद्य विभाग की टीम ने कार्रवाई कर स्वास्थ्य के प्रति खिलवाड़ करने वालों पर शिकंजा कस दिया. यही नहीं खाद्य विभाग में गोडाउन को सील कर दिया है.

गणगौर स्वीट्स पर छापे में मिली थी दूषित मिठाई

खाद्य विभाग, जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम ने मंगलवार को 56 दुकान की गणगौर स्वीट्स सहित पांच मिठाई दुकानों और कारखानों पर कार्रवाई की थी, जिसमें गणगौर स्वीट्स मकड़ी के जाले के बीच मावा रखा था. जबकि गंदगी के बीच काजू-बादाम का पेस्ट बनता मिला था. पिसाई मशीन से काजू का जो पेस्ट गंदी जमीन पर गिर रहा था, कर्मचारी उसे वापस उठाकर मिठाई बनाने के लिए इकट्ठा कर रहे थे. यहां 100 किलो बासी मिठाई, कीड़े वाला 40 किलो आटा, चूहे के मल के अवशेष वाली 10 किलो शक्कर और 20 किलो दाल मौके पर ही नष्ट करवाई गई. गंदगी मिलने पर नगर निगम ने 10 हजार रुपए का स्पॉट फाइन किया और कोर्ट चालान भी बनाया. गणगौर स्वीट्स के कारखाने से घी, बादाम, पिस्ता कतरन, मीठा मावा, सोहन रोल, मक्खन बड़ा, मावा, बादाम ऑरेंज मिठाई के सैंपल लेकर भोपाल लैब को भेजे गए हैं.

ये भी पढ़ें-
अयोध्‍या मामले को लेकर अलर्ट पर MP पुलिस, PHQ ने जारी की एडवाइजरी
Loading...

BJP के नये फॉर्मूले से उम्रदराज नेताओं में मची खलबली, MLA रमेश मेंदोला ने कही ये बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 10:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...