Home /News /madhya-pradesh /

IIT इंदौर में बनेगा Global Pandemic Hub, कोविड वैक्सीन, प्रोटीन समेत इन टॉपिक्स पर होगी रिसर्च

IIT इंदौर में बनेगा Global Pandemic Hub, कोविड वैक्सीन, प्रोटीन समेत इन टॉपिक्स पर होगी रिसर्च

IIT INDORE के दीक्षांत समारोह में डायरेक्टर नीलेश ने Global Pandemic Hub के बारे में जानकारी दी.

IIT INDORE के दीक्षांत समारोह में डायरेक्टर नीलेश ने Global Pandemic Hub के बारे में जानकारी दी.

Good News : कोरोना के काल से सबक लेते हुए IIT इंदौर में एक Global Pandemic Hub बनने जा रहा है. उसमें कोविड के साथ मलेरिया, चिकनगुनिया,डेंगू जैसी वायरस और बैक्टीरिया से होने वाली बीमारियों पर अध्ययन किया जाएगा. इसके लिए यूनाइटेड नेशन, य़ूनेस्को और विश्व के कई एनजीओ के साथ MOU साइन हो चुका है.

अधिक पढ़ें ...

इंदौर. कोरोना (Corona) की पहली और दूसरी लहर में ज़बरदस्त मार झेल चुके इंदौर में अब महामारियों से निपटने की विश्व स्तरीय तैयारी की जा रही है. यहां IIT में एक Global Pandemic Hub बनाया जा रहा है. यूनाइटेड नेशनंस के साथ इस संबंध में MOU साइन हो चुका है. इसमें वायरस और बैक्टीरिया से होने वाली बीमारियों पर रिसर्च और रोकथाम पर काम होगा.

कोरोना के काल से सबक लेते हुए IIT इंदौर में एक Global Pandemic Hub बनने जा रहा है. उसमें कोविड के साथ मलेरिया, चिकनगुनिया,डेंगू जैसी वायरस और बैक्टीरिया से होने वाली बीमारियों पर अध्ययन किया जाएगा. बीमारियों की रोकथाम, मैनेजमेंट और कंट्रोल पर यहां काम किया जाएगा. इसके लिए यूनाइटेड नेशन, य़ूनेस्को और विश्व के कई एनजीओ के साथ MOU साइन हो चुका है.

IIT में दीक्षांत समारोह
देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में शामिल आईआईटी इंदौर का 9वां दीक्षांत समारोह था. इसमें भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार प्रो. के. विजय राघवन मुख्य अतिथि के रूप में और प्रधानमंत्री के सलाहकार अमित खरे विशिष्ट अतिथि के तौर पर मौजूद थे. इस दौरान 498 छात्रों को डिग्री दी गयी.

ग्लोबल पैंडामिंक हब
आईआईटी इंदौर के डायरेक्टर प्रो.नीलेश जैन ने जानकारी दी कि हमारे यहां कोविड के अलावा बच्चों में होने वाले ब्लड कैंसर पर भी रिसर्च किया जा रहा है. इसके अलावा आईआईटी इंदौर में एक ग्लोबल पैंडामिंक हब तैयार किया जा रहा है. सब मिलकर बैक्टीरिया और वायरस बॉर्न बीमारियों पर काम करेंगे.

कोविड वैक्सीन, प्रोटीन और ड्रग्स डिस्कवरी पर रिसर्च
प्रो जैन ने कहा आईआईटी इंदौर की ये खासियत है कि हमारे यहां बॉयो मेडिकल इंजीनियरिंग, बॉयो साइंसेस, कम्प्यूटर साइंस, मैथ्स और सब इंजीनियरिंग फैकल्टी मौजूद है. ये सब मिलकर जब रिसर्च करते हैं, तो बहुत ज्यादा फायदा मिलता है. दुनियाभर की यूनिवर्सिटीज में ऐसे ही अलग अलग डिपार्टमेंट मिलकर काम करते हैं. जबकि अपने देश में देखा जाय तो ट्रेडिशनल इंजीनियरिंग कॉलेज में सिर्फ इंजीनियरिंग की पढ़ाई होती है. मेडिकल और सांइस कॉलेज में सिर्फ बॉयोलॉजी पढाई जाती है. किसी भी क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए सभी फील्ड्स के विशेषज्ञों को मिलकर काम करना पड़ता है. चाहें वो जीवाणु पर काम हो या परमाणु पर. आईआईटी इंदौर में सभी क्षेत्रों के एक्सपर्ट मौजूद हैं जो मिलकर काम करते हैं. अभी कोविड वैक्सीन, प्रोटीन और ड्रग्स डिस्कवरी पर काम चल रहा है जो बहुत महत्वपूर्ण है.

Tags: Corona in indore, Corona Pandemic, Indore news. MP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर