Good News: रेमडेसिविर की 15 हजार डोज MP पहुंची, सरकार ने भोपाल समेत 6 जिलों के लिए लगाए हेलिकॉप्टर


रेमडेसिविर इंजेक्‍शन की कालाबाजारी को लेकर भी सरकार सख्‍त है.

रेमडेसिविर इंजेक्‍शन की कालाबाजारी को लेकर भी सरकार सख्‍त है.

कोरोना से कराह रहे मध्‍य प्रदेश को रेमडेसिविर दवा ( Remdesivir Medicine) की 15 हजार डोज मिली हैं. इसके बाद शिवराज सरकार ने इन्‍हें इंदौर हवाई अड्डे से सरकारी विमान और हेलिकॉप्टर के जरिये प्रदेश के विभिन्न संभागीय मुख्यालयों में भेजा है.

  • Share this:
इंदौर. कोविड-19 (COVID-19)की दूसरी लहर के घातक प्रकोप के बीच रेमडेसिविर दवा ( Remdesivir Medicine) की करीब 15,000 शीशियां मंगलवार को इंदौर पहुंचीं जिन्हें हवाई मार्ग से राज्य के अलग-अलग हिस्सों में भेजा गया है. इस बीच अधिकारियों ने बताया कि पिछले पांच दिन में यह तीसरी बार है जब महामारी से संघर्ष कर रही राज्य सरकार ने इस जरूरी दवा की खेप पहुंचाने के लिए सरकारी विमान और हेलिकॉप्टर लगा दिए हों.

अधिकारियों के मुताबिक, रेमडेसिविर की ताजा खेप बेंगलुरू से राज्य सरकार के विमान के जरिये इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंची. हवाई अड्डे से इसे सरकारी विमान और हेलिकॉप्टर के जरिये प्रदेश के विभिन्न संभागीय मुख्यालयों में भेजा गया है.

भोपाल और इंदौर को मिले सबसे ज्‍यादा इंजेक्‍शन

अधिकारियों ने बताया कि रेमडेसिविर के 312 बक्‍से इंदौर हवाई अड्डे पहुंचे जिनमें करीब 15,000 शीशियां हैं. इनमें से 57 बक्से भोपाल, 26 बक्से सागर, 50 बक्से ग्वालियर, 32 बक्से रीवा, 50 बक्से जबलपुर और 41 बक्से उज्जैन भेजे गए. रेमडेसिविर की इस खेप में शामिल 56 बक्से इंदौर में रखे गए.
गौरतलब है कि कोविड-19 के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली रेमडेसिविर की 15,000 शीशियां ऐसे वक्त पर मध्य प्रदेश पहुंचीं, जब राज्य में इस दवा की भारी किल्लत है और इसकी कालाबाजारी में शामिल कई लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इससे पहले 15 अप्रैल और 18 अप्रैल को रेमडेसिविर की शीशियां इंदौर पहुंची थीं जिन्हें सरकारी विमान और हेलिकॉप्टर के जरिये राज्य के अलग-अलग हिस्सों में भेजा गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज