होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /सरकारी लॉ कॉलेज के 6 प्रोफेसर 5 दिन के लिए निलंबित, धार्मिक कट्टरता फैलाने का आरोप

सरकारी लॉ कॉलेज के 6 प्रोफेसर 5 दिन के लिए निलंबित, धार्मिक कट्टरता फैलाने का आरोप

इंदौर के सरकारी नवीन विधि कॉलेज में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया.

इंदौर के सरकारी नवीन विधि कॉलेज में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया.

ABVP protest. इंदौर के सरकारी लॉ कॉलेज में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. इसके चलते कॉलेज के 6 प्रोफ ...अधिक पढ़ें

इंदौर. इंदौर के एक सरकारी लॉ कॉलेज के 6 प्रोफेसरों को 5 दिन के लिए निलंबित कर दिया गया है. इन पर धार्मिक कट्टरता फैलाने का आरोप है. इसी मुद्दे पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने कॉलेज में काफी हंगामा किया था. हंगामे के बाद कॉलेज प्रशासन ने ये बड़ा कदम उठाया और जांच का आश्वासन दिया.

इंदौर के नवीन शासकीय विधि कॉलेज के 6 प्रोफेसरों को 5 दिन के लिए सस्पेंड किया गया है. बीजेपी से जुड़े छात्र संगठन अखिल विद्यार्थी परिषद ने प्रोफेसरों पर धार्मिक कट्टरता फैलाने के आरोप लगाते हुए हंगामा किया था. छात्रों ने शिक्षकों पर कॉलेज का माहौल खराब करने और विवादित टिप्पणियां करने का भी आरोप लगाया है. साथ ही आरोप लगाया गया कि शिक्षक छात्राओं को अकेले में कॉफी शॉप और रेस्टोरेंट में बुलाते हैं. बढ़ते हंगामे के कारण कॉलेज प्रबंधन ने प्रोफेसरों पर कार्रवाई की है.

एबीवीपी के प्रांत मंत्री घनश्याम सिंह, लकी आदिवाल, दीपेंद्र ठाकुर, बृजेंद्र धाकड़ समेत कई कार्यकर्ताओं ने कॉलेज पहुंचकर प्रिंसिपल का घेराव कर दिया था. छात्र नेताओं ने 6 शिक्षकों पर गंभीर आरोप लगाए और धार्मिक कट्टरता फैलाने की बात कही. प्रोफेसरों को तत्काल निलंबित करने की मांग रखी. हंगामे के दौरान कुछ स्टूडेंट भी सामने आए हैं. उन्होंने कहा क्लास में पढ़ाने के दौरान प्रोफेसर राष्ट्र विरोधी मानसिकता का प्रचार प्रसार करते हैं.

ये भी पढ़ें- MP: टंट्या भील पर टिकी सियासत, राहुल गांधी की यात्रा के बाद अब बीजेपी का आदिवासी सम्मेलन

छात्राओं को कॉफी शॉप और रेस्टोरेंट में बुलाने का आरोप
छात्रों का कहना है कि प्रोफेसर ऐसी बातें करते हैं जिनका पाठ्यक्रम से कोई लेना देना नहीं है. छात्राओं को कॉफी शॉप और रेस्टोरेंट में चलने और बाहर मिलने को कहते हैं. वहीं मामले में छात्राओं ने भी मोर्चा खोल दिया है. छात्राओं ने आरोपों को सही बताया है. इस दौरान छात्र संगठन एबीवीपी ने प्रोफेसरों को भी बुलाने की बात कही, हालांकि इस दौरान कोई भी मौजूद नहीं था. छात्र संगठन ने प्रोफेसरों को हटाने की मांग की है.

छह प्रोफेसर पांच दिन के लिए सस्पेंड
काफी देर तक कॉलेज प्रबंधन हालात पर काबू पाने का प्रयास करता रहा. लेकिन मामला बढ़ता देख प्रिंसिपल ने 6 शिक्षकों को 5 दिन के लिए सस्पेंड कर दिया है. मामले की जांच स्वतंत्र कमेटी से कराने का आश्वासन दिया है. यह सभी अगले 5 दिन तक कक्षाएं नहीं ले सकेंगे. इसके अलावा प्रशासनिक कार्य से भी मुक्त रखे जाएंगे.

Tags: Indore news, Madhya pradesh latest news, Madhya pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें