VHP अध्‍यक्ष का कांग्रेस पर बड़ा आरोप, कहा- वोट बैंक की राजनीति करने वाले अब बन रहे हिंदुओं के हितैषी
Indore News in Hindi

VHP अध्‍यक्ष का कांग्रेस पर बड़ा आरोप, कहा- वोट बैंक की राजनीति करने वाले अब बन रहे हिंदुओं के हितैषी
राम मंदिर आंदोलन की अगुवा रही है विहिप.

विश्व हिन्दू परिषद (VHP) के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे (Vishnu Sadashiv Kokje) ने उम्‍मीद जताई है कि अयोध्या में तीन साल के भीतर भव्य राम मंदिर (Ram Mandir) बनकर तैयार हो जाएगा. जबकि हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल रहे कोकजे ने आरोप लगाया कि देश के बदले माहौल में अब कांग्रेस के नेता एक और राजनीतिक दांव चलते हुए खुद को हिंदुओं का हितैषी दिखाने की कोशिश कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 5, 2020, 7:50 PM IST
  • Share this:
इंदौर. अयोध्या में भगवान राम के मंदिर (Ram Mandir) की आधारशिला रखे जाने जाने के साथ ही विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे (Vishnu Sadashiv Kokje) ने कहा कि इस निर्माण कार्य के अगले तीन साल के भीतर पूरा हो जाने की उम्मीद है. जबकि हिमाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल कोकजे ने आरोप लगाया कि देश की आजादी के बाद कांग्रेस (Congress) की वोट बैंक की राजनीति के कारण अयोध्या में राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की योजना लगातार पिछड़ती चली गई.

कोकजे ने कही ये बात
कोकजे ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास से दुनियाभर के हिंदुओं में उत्साह है. केंद्र सरकार द्वारा श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के गठन के बाद मंदिर निर्माण की प्रक्रिया जिस सुगम तरीके से आगे बढ़ रही है, वह अद्भुत है. मध्य प्रदेश और राजस्थान के उच्च न्यायालयों के पूर्व न्यायाधीश ने कहा, 'हमें उम्मीद है कि अयोध्या में राम मंदिर तीन साल में बनकर तैयार हो जाएगा.'

विहिप के मॉडल में मामूली बदलाव के साथ हो रहा मंदिर निर्माण
इसके अलावा कोकजे ने कहा कि राम जन्मभूमि पर मंदिर का निर्माण विहिप के उसी मॉडल में मामूली बदलाव के साथ किया जाएगा जिसके तहत पिछले तीन दशक से पत्थर तराशे जा रहे हैं. उन्होंने कहा, 'राम मंदिर को भव्य स्वरूप देने के लिए हमारे मॉडल में थोड़ा बदलाव किया गया है. हमने दो मंजिलों के लिए पहले से पत्थर तराशकर रखे हैं जिनका इस्तेमाल मंदिर निर्माण में किया जाएगा.'



गौरतलब है कि विहिप, राम मंदिर आंदोलन की अगुवा रही है. इस संगठन ने राम मंदिर निर्माण कार्यशाला में वर्ष 1990 में अयोध्या में इस देवालय के निर्माण के लिए पत्थरों को तराशना शुरू किया था. जबकि हिमाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल कोकजे ने आरोप लगाया कि देश की आजादी के बाद कांग्रेस की वोट बैंक की राजनीति के कारण अयोध्या में राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की योजना लगातार पिछड़ती चली गई.उन्होंने कहा, 'देश के बदले माहौल में अब कांग्रेस के नेता एक और राजनीतिक दांव चलते हुए खुद को हिंदुओं का हितैषी दिखाने की कोशिश कर रहे हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज