लाइव टीवी

एमपी के इस गांव ने पेश की मिसाल, हिंदू-मुस्लिमों ने चंदा इकट्ठा कर किया बुजुर्ग का दाह संस्कार

News18
Updated: October 26, 2015, 12:56 PM IST
एमपी के इस गांव ने पेश की मिसाल, हिंदू-मुस्लिमों ने चंदा इकट्ठा कर किया बुजुर्ग का दाह संस्कार
खरगोन और बड़वानी जिले के सेंधवा में दो पक्षों के बीच तनाव के बीच यहां मुस्लिमों ने एक हिंदू का चंदा इकट्ठा कर दाह संस्कार किया.

खरगोन और बड़वानी जिले के सेंधवा में दो पक्षों के बीच तनाव के बीच यहां मुस्लिमों ने एक हिंदू का चंदा इकट्ठा कर दाह संस्कार किया.

  • News18
  • Last Updated: October 26, 2015, 12:56 PM IST
  • Share this:
खरगोन और बड़वानी जिले के सेंधवा में दो पक्षों के बीच तनाव के बीच यहां मुस्लिमों ने एक हिंदू का चंदा इकट्ठा कर दाह संस्कार किया.

दरसअल, सेंधवा के दावल बेड़ी इलाके में मुस्लिमों ने सांप्रदायिक सौहार्द्र की अनूठी मिसाल पेश की है. यहां एक नि:शक्त 75 वर्षीय बुजुर्ग सीताराम का बीमारी से निधन हो गया.

जिसके बाद बाद हिन्दू और मुस्लिम संप्रदाय के लोगों ने आपसी सहयोग से चंदा इकठ्ठा कर उनका अंतिम संस्कार किया. इस मौके पर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री अंतर सिंह आर्य के बेटे विकास आर्य ने बुजुर्ग के दाह संस्कार के लिए लकड़ियों का इंतजाम किया.

बताया गया कि बुजुर्ग सीताराम की बहन का तीन साल पूर्व निधन हो गया था. तभी से पड़ोसी ही परिवार के सदस्यों की तरह उनकी देखभाल कर रहे थे. करीब 15 पड़ोसी परिवार बारी-बारी से बुजुर्ग की खानपान और दवाईयों का ध्यान रखते थे.

मृतक के एक पड़ोसी ने बताया कि हिंदू धर्म का होने के बावजूद बुजुर्ग सीताराम अलग-अलग धर्मों के पड़ोसी परिवारों के घर के सदस्य की तरह थे. वे सभी से परिवार के बड़े मुखिया की तरह व्यवहार रखते थे.

उल्लेखनीय है कि सेंधवा के नजदीक खरगोन में सांप्रदायिक तनाव के चलते कर्फ्यू लगा हुआ है. वहीं, कुछ दिनों पहले सेंधवा में भी दो पक्षों में तनाव हुआ था. इसके बावजूद भी यहां हिंदू-मुस्लिम धर्म के लोगों में एकता की अनूठी मिसाल देखने को मिली .

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2015, 12:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...