• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • कमला हैरिस USA की उपराष्ट्रपति बन सकती हैं, तो सोनिया गांधी PM क्यों नहीं- रामदास अठावले

कमला हैरिस USA की उपराष्ट्रपति बन सकती हैं, तो सोनिया गांधी PM क्यों नहीं- रामदास अठावले

Indore News: केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने सोनिया गांधी के विदेशी मूल को लेकर दिया अहम बयान.

Indore News: केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने सोनिया गांधी के विदेशी मूल को लेकर दिया अहम बयान.

Ramdas Athawale News: केंद्र की मोदी सरकार के मंत्री रामदास अठावले ने इंदौर में दिया बयान. कहा- 2004 के चुनावों में यूपीए को बहुमत मिलने के बाद मैंने प्रस्ताव रखा था कि सोनिया गांधी को भारत का प्रधानमंत्री बनना चाहिए. मेरा मत था कि उनके विदेशी मूल के मुद्दे का कोई अर्थ नहीं है.

  • Share this:

    इंदौर. केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने शनिवार को कहा कि अगर भारतवंशी कमला हैरिस अमेरिका की उपराष्ट्रपति बन सकती हैं, तो इटली में जन्मीं सोनिया गांधी भी 17 साल पहले आम चुनावों में कांग्रेस नीत यूपीए की जीत के बाद भारत की प्रधानमंत्री बन सकती थीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट के चर्चित मंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के विदेशी मूल के मुद्दे को वर्ष 2004 के लोकसभा चुनावों के संदर्भ में बेमानी करार दिया. गौर करने वाली बात यह है कि अठावले ने यह बात ऐसे वक्त कही, जब पीएम मोदी अमेरिका की यात्रा पर थे. पीएम मोदी ने वहां कमला हैरिस के साथ बैठक भी की. रविवार को पीएम मोदी स्वदेश लौट आए.

    अठावले ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘जब 2004 के चुनावों में यूपीए को बहुमत मिला था, तब मैंने प्रस्ताव रखा था कि सोनिया गांधी को भारत का प्रधानमंत्री बनना चाहिए. तब मेरा मत था कि उनके विदेशी मूल के मुद्दे का कोई अर्थ नहीं है. ‘

    उन्होंने आगे कहा, ‘अगर कमला हैरिस अमेरिका की उपराष्ट्रपति बन सकती हैं, तो भारत की नागरिक, राजीव गांधी की पत्नी और लोकसभा के लिए चुनी गईं सोनिया गांधी इस देश की प्रधानमंत्री क्यों नहीं बन सकती थीं?’ केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2004 में गांधी को प्रधानमंत्री बनना चाहिए था और अगर उन्हें यह पद स्वीकार नहीं करना था, तो कांग्रेस को मजबूत करने के लिए पार्टी के तत्कालीन वरिष्ठ नेता शरद पवार को प्रधानमंत्री बनाया जाना चाहिए था.

    Kamala Harris, Sonia Gandhi, Ramdas Athawale, Indore News, MP News

    केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि 2004 में मैंने सोनिया गांधी को भारत का पीएम बनाने का प्रस्ताव रखा था.

    उन्होंने कहा, ‘पवार जन नेता होने के कारण प्रधानमंत्री पद के लायक थे और कांग्रेस को मनमोहन सिंह के स्थान पर उन्हें प्रधानमंत्री बनाना चाहिए था, लेकिन सोनिया गांधी ने ऐसा नहीं किया.’ अठावले ने यह भी कहा कि अगर पवार 2004 में देश के प्रधानमंत्री बनते, तो कांग्रेस की ऐसी कथित दुर्गति नहीं होती, जैसी आज हो रही है.

    गौरतलब है कि पवार फिलहाल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख हैं. एनसीपी का गठन 25 मई, 1999 को पवार ने पीए संगमा और तारिक अनवर के साथ मिलकर किया था, जब इटली में जन्मीं सोनिया गांधी द्वारा कांग्रेस के नेतृत्व करने के अधिकार पर विवाद के कारण उन्हें कांग्रेस से निष्कासित कर दिया गया था.

    केंद्रीय मंत्री ने हालिया सियासी घटनाक्रम में पंजाब के मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ने को मजबूर होने वाले वरिष्ठ नेता अमरिंदर सिंह से आह्वान किया कि कांग्रेस द्वारा उनके ‘भारी अपमान’ के मद्देनजर उन्हें भाजपा या इसकी अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में शामिल हो जाना चाहिए. अठावले ने कहा, ‘अगर सिंह भाजपा में आते हैं, तो पंजाब के आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा की स्थिति मजबूत हो जाएगी.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज