मध्य प्रदेश में एक कंपनी ने 28 कर्मचारियों को गिफ्ट में दि‍या वन BHK मकान, जानें क्या थी शर्त और किनका पूरा कि‍या सपना

पीथमपुर की टेक्सटाइल कंपनी प्रतिभा सिंटेक्स लिमिटेड ने 25 हजार रुपए तक वेतन पाने वाले अपने 28 कर्मचारियों का अपने घर का सपना पूरा क‍िया है.

पीथमपुर की टेक्सटाइल कंपनी प्रतिभा सिंटेक्स लिमिटेड ने 25 हजार रुपए तक वेतन पाने वाले अपने 28 कर्मचारियों का अपने घर का सपना पूरा क‍िया है.

Madhya Pradesh News: कंपनी ने अपने कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने के लिए कुछ समय पहले एक योजना बनाई थी, जिसमें कर्मचारियों का सर्वे कर उनके सपने के बारे में पूछा गया था.

  • Share this:
मध्‍य प्रदेश के इंदौर शहर के पास इंडस्ट्रियल एरिया पीथमपुर की टेक्सटाइल कंपनी प्रतिभा सिंटेक्स लिमिटेड ने 25 हजार रुपए तक वेतन पाने वाले अपने 28 कर्मचारियों का सपना पूरा करते हुए सभी को सागौर कुटी की टाउनशिप में वन बीएचके रो हाउस गिफ्ट में दिए हैं. इस घर की पूरी कीमत कंपनी ही चुकाएगी और कंपनी के 28 कर्मचारियों में 14 महिलाएं भी शामिल हैं.

दरअसल, कंपनी ने अपने कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने के लिए कुछ समय पहले एक योजना बनाई थी, जिसमें कर्मचारियों का सर्वे कर उनके सपने के बारे में पूछा गया था. इसमें लगभग सभी कर्मचारियों ने कहा था कि उनका सपना खुद के घर का है. इसके बाद कंपनी ने उनके यहां सात साल से ज्यादा समय से कम सैलरी में काम कर रहे और बिना आपराधिक रिकॉर्ड वाले कर्मचारियों का चुनाव किया, जिनके पास खुद का घर नहीं था. उन्हें कंपनी की ओर से घर की चाबी सौंप दी गई. ये गिफ्ट कंपनी के प्रेसीडेंट एस.के.चौधरी के पिता छोगमल चौधरी की जन्म शताब्दी के मौके पर दिया गया.

एस.के.चौधरी ने बताया कि हमारा मकसद कर्मचारियों को कंपनी से न केवल प्रोफेशनल बल्कि बल्कि इमोशनल तरीके से भी जोड़ना है. इसीलिए कंपनी के कर्मचारियों का सपना पूरा करना मेरा नैतिक दायित्व भी है, क्योंकि मेरे कर्मचारी ही मेरा गौरव हैं. यही वजह है कि विभिन्न परीक्षाओं में अच्छे अंक लाने वाले कर्मचारियों के 65 बच्चों के लिए छात्रवृत्ति की योजना भी शुरू की गई है साथ ही 20 साल से सेवा दे रहे कर्मचारियों को सम्मानित भी किया गया है. अपने घर का सपना पूरा होने के बाद कंपनी के कर्मचारी भावुक भी हो गए. ऐसे ही एक कर्चमारी राजेश प्रसाद द्विवेदी का कहना है कि हम हमेशा सोचते थे कि हमारा खुद का घर हो, लेकिन इतनी कम सैलरी में ये मुमकिन नहीं था, कंपनी ने मेरा सपना पूरा कर दिया,इस बहुमूल्य तोहफे के लिए मैं कंपनी प्रबंधन को ह्रदय से धन्यवाद देता हूं.

पीथमपुर औद्योगिक संगठन के अध्यक्ष डॉ. गौतम कोठारी का कहना है कि कोरोना काल में कर्मचारियों के प्रोत्साहन की ये बहुत अच्छी पहल है. दूसरे कारोबारियों को भी इससे प्रेरणा लेनी चाहिए. अपनी कंपनी में काम कर रहे कर्मचारी भी आखिरकार अपने परिवार के सदस्य जैसे ही होते है उनकी जरूरतों का ख्याल रखना हमारा दायित्व है.
सूरत के कारोबारी ने कर्मचारियों दिए थे 400 फ्लैट गिफ्ट

इससे पहले गुजरात के सूरत के अरबपति हीरा कारोबारी सावजी ढोलकिया ने कुछ साल पहले दीपावली के बोनस के तौर पर अपने कर्मचारियों को 400 फ्लैट और 1,260 कारें गिफ्ट दी थीं. कर्मचारियों को गिफ्ट देने के मामले में वे हमेशा कुछ नया करते हैं लेकिन अब पीथमपुर के कारोबारी भी ढोलकिया से कदम से कदम मिला रहे हैं ये कर्मचारियों के हित के लिए अच्छी बात है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज