अपना शहर चुनें

States

चलती ट्रेन में यात्रियों को मिलेगा मसाज का मजा, इंदौर से होगी शुरुआत

 सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

यात्रियों को यह सुविधा 15 से 20 दिनों के अंदर मिलने लगेगी. ट्रेनों में लंबा सफर करने वाले यात्रियों के लिए रेलवे के इस कदम को काफी सराहा जा रहा है.

  • Share this:
चलती ट्रेन में यात्रियों के सरदर्द, पैर दर्द या थकान होने पर उन्हें अब दवाई खाने की जरुरत नहीं पड़ेगी. जी हां, भारतीय रेलवे अब चलती ट्रेन में ही मसाज की सुविधा उपलब्ध करवाएगी. न्यू इनोवेटिव नॉन फेयर रेवेन्यू स्कीम के तहत रेलवे की इतिहास में यह पहली बार इस तरह की सुविधा मिलने जा रही है. जिसकी शुरुआत मध्य प्रदेश के रतलाम रेल मंडल से की जाएगी. रतलाम रेल मंडल के इंदौर स्टेशन से चलने वाली 39 एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेनों में अब मसाजर उपलब्ध रहेंगे जो यात्रियों को अपनी सेवाएं देंगे. ट्रेन में ही मसाज की सुविधा के लिए बाकायदा लायसेंस ऑफ़ अग्रीमेंट जारी कर दिए गए हैं.

यात्रियों को यह सुविधा 15 से 20 दिनों के अंदर मिलने लगेगी. ट्रेनों में लंबा सफर करने वाले यात्रियों के लिए रेलवे के इस कदम को काफी सराहा जा रहा है. भारतीय रेलवे के इस कवायद से विभाग को सालाना 20 लाख रूपए की कमाई होने का अनुमान है. साथ ही मसाज कराने वाले 20 हजार नए यात्री भी मिलेंगे, जिससे सालाना 90 लाख रुपये की अतिरिक्त आय होने का अनुमान है. इसके लिए हर ट्रेन में दो ट्रेंड मसाजर मौजूद रहेंगे. जिनके फोन नंबर टीटीई और कोच में उपलब्ध करवाए जाएंगे. यात्री इस सुविधा का लाभ सुंबह 6 बजे से रात 10 बजे तक उठा पाएंगे.

कितना करना होगा भुगतान-



यात्रियों को सिर और पैर की मसाज के लिए 100 से लेकर 300 रूपए तक का भुगतान करना पड़ सकता है. मसाज का लुत्फ उठाने के लिए पहचान पत्र दिखाना अनिवार्य होगा. ‘द गोल्ड’ स्कीम में 15 से 20 मिनट तक मालिश कराने के लिए 100 रुएये, ‘डायमंड मसाज’ के तहत तेल और क्रीम के साथ 200 रुपये, तो वहीं ‘प्लैटिनम स्कीम’ के तहत खास तरीके के तेल और क्रीम के साथ मसाज और चंपी करने का 300 रुपये खर्ज करने होंगे.
इंदौर से चलने वाली सिर्फ 39 ट्रेनों में मिलगी सुविधा- 

भारती रेलवे की यह सेवा फिलहाल इंदौर से चलने वाली सिर्फ 39 ट्रेनों में ही उपलब्ध होगी. रेलवे अधिकारी के मुताबिक देहरादून-इंदौर एक्सप्रेस (14317), नई दिल्ली-इंदौर इंटरसिटी एक्सप्रेस (12416) और इंदौर-अमृतसर एक्सप्रेस (19325) जैसी अहम ट्रेनें भी इसमें शामिल हैं.

सेवा का विस्तार-

डीआरएम के मुताबिक यह प्रयोग अगर इंदौर से चलने वाली ट्रेनों में सफल रहा तो उज्जैन और रतलाम से चलने वाली ट्रेनों में भी यह सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी. जिससे न केवल रेलवे का रेवेन्यू बढ़ेगा बल्कि यात्रियों को भी सुविधा मिलेगी. गौरतलब है की रतलाम रेलमंडल आधा दर्जन मामलो में पूरे वेस्टर्न रेलवे में अव्वल है. और अब चलती ट्रेन में यात्रियों को मसाज सुविधा देकर, यात्री सुविधाओं में नया अध्याय जोड़ने जा रहा है.

ये भी पढ़ें- MP में फिर IAS अफसरों के तबादले, भोपाल के CEO बने दीपक सिंह

ये भी पढ़ें- सीएम कमलाथ 10 जून को लेंगे विधायक पद की शपथ, तैयारियां पूरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज