• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • Indore : स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष में 75 पकिस्तानी शरणार्थियों को मिली भारतीय नागरिकता, जमकर थिरके लोग

Indore : स्वतंत्रता के 75 वें वर्ष में 75 पकिस्तानी शरणार्थियों को मिली भारतीय नागरिकता, जमकर थिरके लोग

इंदौर में अभी भी तीन हजार पाकिस्तानी शरणार्थियों को नागरिकता मिलना बाकी है.

इंदौर में अभी भी तीन हजार पाकिस्तानी शरणार्थियों को नागरिकता मिलना बाकी है.

Indore. सांसद शंकर लालवानी ने कहा अब भी तीन हजार से अधिक ऐसे लोग हैं जिन्हें नागरिकता दी जाना हैं. पुलिस सत्यापन में देर होने की वजह से इनके प्रमाण पत्र अटके हैं. इसलिए गृहमंत्री से आग्रह किया गया है और पुलिस अधिकारियों से भी बात की गई है कि इस प्रक्रिया को जल्द किया जाए

  • Share this:

इंदौर. पाकिस्तान (Pakistan) से इंदौर आकर बसे 75 हिन्दू शरणार्थियों को मंगलवार को भारतीय नागरिकता दी गई. अमृत महोत्सव के तहत सभी को नागरिकता प्रमाण पत्र दिए गए हैं. ये सभी लोग सालों पहले इंदौर में आकर बस गए थे. लेकिन यहां की नागरिकता नहीं मिल पायी थी. अब दस्तावेजों की जांच के बाद इन्हें नागरिकता दे दी गई.

कार्यक्रम में सांसद शंकर लालवानी और कलेक्टर मनीष सिंह समेत भाजपा के बड़े नेता मौजूद थे. इस मौके पर सभी अपनी खुशी का इजहार नाच गाकर किया. इनका साथ सांसद शंकर लालवानी ने भी दिया. सभी सिंधी गानों की धुन पर जमकर थिरके.

3 हजार से ज्यादा हिन्दू शरणार्थियों की नागरिकता अटकी
भले ही अमृत महोत्स्व पर 75 शरणार्थियों को नगरिकता दे दी गई है लेकिन अब भी 3 हजार से ज्यादा हिन्दू शरणार्थियों की नागरिकता के मामले अटके हुए हैं. जिन्हें जल्द ही भारतीय नागरिकता प्रदान की जाएगी. सांसद शंकर लालवानी ने कहा केन्द्र सरकार ने नियमों को सरल किया है. इस वजह से सालों से भटक रहे हिन्दुओं को नागरिकता मिल पाई है.

बाकी लोगों को भी मिलेगी नागरिकता
सांसद शंकर लालवानी ने कहा अब भी तीन हजार से अधिक ऐसे लोग हैं जिनके नागरिकता प्रमाण पत्र अटके हैं. गौर करने में आया है कि पुलिस सत्यापन में देर होने की वजह से इन लोगों के प्रमाण पत्र अटके हैं. इसलिए गृहमंत्री से आग्रह किया गया है और पुलिस अधिकारियों से भी बात की गई है कि इस प्रक्रिया को जल्द किया जाए. आश्वासन मिला है कि जल्द ही इस प्रक्रिया को पूर्ण कर लिया जाएगा,ताकि बचे हुए करीब तीन हजार अन्य नागरिको को भी नागरिकता मिल सके.

अफगानिस्तान की चिंता

इस मौके पर सांसद शंकर ललवानी ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालत पर चिंता व्यक्त की. लालवानी ने कहा अफगानिस्तान में फंसे कुछ लोग उनके संपर्क में थे. उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा था. लेकिन अब उनसे दो दिन से फोन पर भी सम्पर्क नहीं हो पा रहा है. हालात चिंताजनक हैं. वह खुद लगातार गृह मंत्रालय के सम्पर्क में हैं और वहां से हर सम्भव मदद और राहत का भरोसा दिलाया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज