PMO की तरह सुरक्षित होगा इंदौर एयरपोर्ट, नीलभस्मी नष्ट कर देगा कोरोना के वायरस

इंदौर एयरपोर्ट पर अभी दो नीलभस्मी मशीनें लगायी गयी हैं.

इंदौर एयरपोर्ट पर अभी दो नीलभस्मी मशीनें लगायी गयी हैं.

Indore. ये नीलभस्मी उपकरण एयरपोर्ट पर अलग-अलग एंगल पर सेट किये गए हैं. जो कुछ ही मिनटों में उन जगहों को सैनेटाइज कर देंगे.

  • Share this:

इंदौर. कोरोना (Corona) से सबसे ज़्यादा संक्रमित इंदौर का एयरपोर्ट (Indore Airport) अब वायरस प्रूफ होने वाला है. एयरपोर्ट पर एक उपकरण लगाया जा रहा है. दावा है कि वो कोरोना सहित सभी तरह के वायरस नष्ट कर देगा.

कोरोना से लड़ने के लिए इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को बेहद अचूक और कारगर हथियार मिल गया है. एयरपोर्ट पर नीलभस्मी उपकरण लगाया जा रहा है. ये उपकरण इंदौर के राजा रामन्ना प्रगति प्रौद्योगिकी केंद्र यानि आरआर कैट ने तैयार किया है. दावा किया जा रहा है कि इससे कोरोना सहित अन्य तमाम वायरस नष्ट हो जाएंगे. इसकी खासियत ये है कि 4 भुजाओं वाले इस उपकरण से निकलने वाली अल्ट्रावाइलेट किरणें रेंज में मौजूद सभी तरह के वायरस नष्ट कर देती हैं. अगर ऐसा होता है तो इस लिहाज से इंदौर एयरपोर्ट टर्मिनल अब बेहद सुरक्षित हो जाएगा.

PMO में भी है नीलभस्मी

दिल्ली में प्रधानमंत्री कार्यालय, साउथ ब्लॉक सहित कई बड़े सरकारी दफ्तरों के बाद आरआर केट में बना नीलभस्मी उपकरण अब इंदौर एयरपोर्ट पर हर तरह के वायरस का खात्मा करेगा. ऐसे 2 उपकरण मंगलवार शाम एयरपोर्ट पर इंस्टॉल किये गए. कैट में बनाए गए इस आधुनिक उपकरण की भुजाएं नीचे से ऊपर और अलग-अलग दिशा में सेट की जा सकती हैं. इनसे निकलने वाली अल्ट्रावाइलेट किरणें वहां मौजूद सभी तरह के वायरस को नष्ट कर देती हैं. फिलहाल इस उपकरण को ट्रायल के तौर पर मंगलवार को एयरपोर्ट पर इंस्टॉल किया गया है. इन 2 उपकरणों के जरिये अगले कुछ महीनों तक एयरपोर्ट को सैनेटाइज और डिसइंफेक्ट किया जाएगा. कोरोना से लड़ने में यह बेहद कारगर उपकरण साबित होगा.


पल भर में सैनेटाइज

ये नीलभस्मी उपकरण एयरपोर्ट पर अलग-अलग एंगल पर सेट किये गए हैं. जो कुछ ही मिनटों में उन जगहों को सैनेटाइज कर देंगे. कोरोना के कारण फिलहाल इंदौर एयरपोर्ट पर उड़ानों की संख्या कम ही है और एयरपोर्ट टर्मिनल शाम 6 बजे बंद कर दिया जाता है. इसलिए उसके बाद ही इन उपकरणों का उपयोग किया जाएगा. आरआर कैट के डायरेक्टर डॉ. शंकर वी. नाखे के मुताबिक इस उपकरण को कठिन परिश्रम के साथ तैयार किया गया है और इसकी मदद से इंदौर एयरपोर्ट को और अधिक सुरक्षित बनाया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज