अपना शहर चुनें

States

बेटे की शादी में भीड़ जुटाकर मुश्किल में फंसे झाबुआ सांसद, कांग्रेस ने PMO से की शिकायत

डामोर के घर शादी में एक हजार लोग जुटे थे.
डामोर के घर शादी में एक हजार लोग जुटे थे.

कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से आग्रह किया है कि सांसद जीएस डामोर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. इससे जनता में संदेश जाए कि कोरोना (COVID-19) गाइडलाइन का सबको सख्ती से पालन करना है.

  • Share this:
इंदौर. झाबुआ सांसद (MP) जीएस डामोर मुश्किल में पड़ सकते हैं. उनकी शिकायत प्रधानमंत्री दफ्तर (PMO) कर दी गयी है. मामला उनके बेटे की शादी का है, जिसमें डामोर ने कोरोना (Corona) काल की पाबंदी के बावजूद अच्छी-खासी भीड़ जुटा ली. कांग्रेस तत्काल सक्रिय हुई और उसने इसकी शिकायत PMO में कर दी. कांग्रेस ने पीएमओ को शादी का वीडियो भेजकर सख्त कार्रवाई की मांग की है.

कोरोना काल में अपने बेटे की धूमधाम से शादी कर उसमें भारी भीड़ जुटाना झाबुआ सांसद जीएस डामोर को महंगा पड़ सकता है. कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव ने इसकी शिकायत सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय में कर दी है. इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में जीएस डामोर के बेटे की कल 25 नवंबर को शादी थी. उस विवाह समारोह में एक हज़ार से ज़्यादा लोगों के साथ धूमधाम से कार्यक्रम किया गया. जबकि जिला प्रशासन की गाइडलाइन के मुताबिक सिर्फ 250 लोग ही शादी में शामिल हो सकते हैं.

बीजेपी सांसद कर रहे हैं गाइडलाइन का उल्लंघन
लेकिन भाजपा सांसद जीएस डामोर ने खुद नियमों की धज्जियां उड़ा दीं. इससे पहले अभी हाल ही में इंदौर के सांसद शंकर लालवानी ने कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए भीड़ जुटाई थी और अब दूसरे सांसद जीएस डामोर ने भीड़ जुटाई. कार्यक्रम स्थल पर एक हज़ार से ज़्यादा खाने की प्लेटें लगाई गईं. अब सवाल उठता है कि क्या सारे क़ानून सिर्फ़ जनता के लिए हैं.पीएम और सीएम की बात बीजेपी के सांसद गंभीरता से नहीं ले रहे हैं.



पीएम से निवेदन
कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव ने पी एम नरेन्द्र मोदी से इसकी शिकायत कर दी है. उन्होंने प्रधानमंत्री कार्यालय को को ई-मेल और ट्वीट कर सबूतों सहित शिकायत भेजी है. इसमें पीएम से डामोर के खिलाफ सख़्त कार्रवाई करने का आग्रह किया गया है ताकि जनता में ये संदेश जाए कि क़ानून तोड़ने का अधिकार किसी को नहीं हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज