अपना शहर चुनें

States

INDORE : डेली कॉलेज के स्टूडेंट्स ने देवी अहिल्या बाई पर बनायी फीचर फिल्म, देश में पहली बार हुआ ऐसा

फिल्म में डेली कॉलेज के स्टूडेंट्स ने किरदार निभाए हैं.
फिल्म में डेली कॉलेज के स्टूडेंट्स ने किरदार निभाए हैं.

ये पहला मौका है जब स्कूली छात्रों (School Students) ने कोई फीचर फिल्म (Feature film) बनायी हो. आईबी मिनिस्ट्री से भी इसकी परमिशन ली गई है.

  • Share this:
इंदौर. इंदौर के प्रसिद्ध डेली कॉलेज के छात्रों ने कोरोना काल का बेहतरीन उपयोग किया. उन्होंने मालवा प्रांत की महारानी रही देवी अहिल्याबाई होलकर के जीवन पर एक फिल्म (Film) बनायी है.देश में ये पहली बार हुआ है जब किसी स्कूल के बच्चों ने फीचर फिल्म बनाई है.डेली कॉलेज के 150 साल पूरे होने पर ये फिल्म बनाई गई है, जिसे बॉक्स ऑफिस के साथ ही ओटीटी (OTT) प्लेटफॉर्म पर रिलीज किया जाएगा.इसके अलावा देश विदेश में होने वाले फिल्म फेस्टीवल्स में भी ये फिल्म भेजी जाएगी.

डेली कॉलेज की देश के प्रमुख को-एड बोर्डिंग स्कूलों में प्रदेश में नंबर वन और देश में तीसरे नंबर की रैंकिंग हैं. यहां के छात्र छात्राओं ने कोरोना काल में देवी अहिल्या बाई होलकर पर खुद के प्रयास से ये फिल्म बनायी है. 9वीं से 12वीं क्लास के छात्र छात्राओं ने फिल्म में रोल भी खुद किया है. उनके इस काम में स्टाफ ने मदद की.

देश में पहली बार
कॉलेज के प्रिंसिपल नीरज कुमार बढोतिया ने बताया कोरोना काल में फिल्म कलाकारों को इंदौर बुलाना बहुत मुश्किल था.लेकिन पेरेन्ट्स ने रिस्क लेकर अपने बच्चों को भेजा. इस फिल्म की शूटिंग डेली कॉलेज के अलावा महेश्वर में देवी अहिल्या फोर्ट में की गई.ये फिल्म एक क्रिएटिव आर्ट है जिसे फिल्म फेस्टिवल में भेजा जाएगा.देश में संभवत: ये पहला मौका है जब स्कूली छात्रों ने कोई फीचर फिल्म बनायी हो. आईबी मिनिस्ट्री से भी इसकी परमिशन ली गई है. अहिल्याबाई का जीवन कठिनाइयों से भरा था. स्कूली बच्चों को उनके जीवन से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा.
छात्र-छात्राओं ने निभाया किरदार


फिल्म दो काल में चलती है. एक वर्तमान है और दूसरा देवी अहिल्याबाई का समय. दोनों का समावेश किया गया है. देवी अहिल्याबाई को आज की महिला से को रिलेट किया गया है. फिल्म में अहिल्याबाई का किरदार निभाने वाली नविया खुसरो का कहना है कि एक महिला होकर उन्होने इतना बड़ा साम्राज्य संभाला.अहिल्याबाई होलकर बहुत स्ट्रॉंग महिला थीं. ऐसी महिला का किरदार निभाना चुनौतीपूर्ण था.

हर महिला में एक अहिल्याबाई
फिल्म में आज की अहिल्याबाई की भूमिका निभाने वाली सारा कुरैशी का कहना है हम सभी महिलाओं में एक देवी अहिल्याबाई जिंदा हैं. बस हमें ढूंढ़ने की जरूरत है. जीवन में परेशानियां तो आती हैं लेकिन हमे उनसे पार पाने की प्रेरणा इस किरदार से मिलती है. अहिल्याबाई होलकर एक अच्छी राजनैतिज्ञ थीं. उन्होंने समाज कल्याण के इतने काम किए जो आज के समय में संभव दिखाई नहीं देते हैं.

कई प्लेटफॉर्म पर होगी रिलीज
इस फिल्म का प्रीमियर किया जा रहा है. उसके बाद इसे दूसरी जगहों पर रिलीज किया जाएगा.वैसे तो अहिल्याबाई होलकर पर कई फिल्में और सीरियल बने हैं लेकिन ये पहली बार है जब बच्चों ने उनके जीवन से प्रेरणा लेकर उसे फिल्मी परदे पर उतारा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज