होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /इंदौर 6वीं बार बना ‘सबसे स्वच्छ’ शहर, सूरत दूसरे और मुंबई तीसरे नंबर पर

इंदौर 6वीं बार बना ‘सबसे स्वच्छ’ शहर, सूरत दूसरे और मुंबई तीसरे नंबर पर

Indore: मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर 6वीं बार लगातार 'सबसे स्वच्छ' शहर चुना गया है.

Indore: मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर 6वीं बार लगातार 'सबसे स्वच्छ' शहर चुना गया है.

Cleanest city of India: मध्य प्रदेश के लिए बड़ी खबर है. इंदौर ने स्वच्छता के मामले में एक बार फिर देश के सभी शहरों को प ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

केंद्र के वार्षिक सर्वेक्षण के परिणाम जारी
इंदौर लगातार 6वीं बार सबसे स्वच्छ शहर
विजयवाड़ा ने गंवा दिया तीसरा स्थान

नई दिल्ली. केंद्र के वार्षिक सर्वेक्षण में इंदौर को लगातार छठवीं बार सबसे स्वच्छ शहर चुना गया है. इसके बाद सूरत दूसरे और मुंबई तीसरे नंबर है. शनिवार को सबसे स्वच्छ शहर के सर्वे के परिणाम घोषित हुए. ‘स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार 2022’ में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्यों में मध्य प्रदेश ने पहला स्थान हासिल किया है, इसके बाद छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र का नंबर है.

इंदौर और सूरत ने इस साल बड़े शहरों की श्रेणी में अपना शीर्ष स्थान बरकरार रखा, जबकि विजयवाड़ा ने अपना तीसरा स्थान गंवा दिया. उसके बाद यह स्थान नवी मुंबई को मिला. सर्वेक्षण के परिणामों के अनुसार, 100 से कम शहरी स्थानीय निकायों वाले राज्यों में त्रिपुरा ने शीर्ष स्थान हासिल किया है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शनिवार को यहां एक कार्यक्रम में विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए. इस मौके पर केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी और अन्य भी मौजूद थे.

गंगा किनारे बसे शहरों की ये है स्थिति
एक लाख से कम आबादी वाले शहरों की श्रेणी में महाराष्ट्र का पंचगनी पहले स्थान पर रहा. इसके बाद छत्तीसगढ़ का पाटन (एनपी) और महाराष्ट्र का करहड़ रहा. एक लाख से अधिक आबादी की श्रेणी में हरिद्वार गंगा के किनारे बसा सबसे स्वच्छ शहर रहा. इसके बाद वाराणसी और ऋषिकेश रहे. सर्वेक्षण के परिणामों के अनुसार, एक लाख से कम आबादी वाले गंगा के किनारे बसे शहरों में बिजनौर पहले स्थान पर रहा. इसके बाद क्रमशः कन्नौज और गढ़मुक्तेश्वर का स्थान रहा.

देवलाली सबसे स्वच्छ छावनी बोर्ड
सर्वेक्षण में महाराष्ट्र के देवलाली को देश का सबसे स्वच्छ छावनी बोर्ड चुना गया. स्वच्छ सर्वेक्षण का सातवां संस्करण स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) की प्रगति का अध्ययन करने और विभिन्न स्वच्छता मानकों के आधार पर शहरी स्थानीय निकायों (यूएलबी) को रैंक देने के लिए आयोजित किया गया था.

Tags: Indore news, Mp news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें