लाइव टीवी

हनी ट्रैप मामला: रिमांड अवधि बढ़ने से बेहोश हुई मुख्‍य आरोपी मोनिका यादव, कोर्ट ने मानी पुलिस की मांग

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 22, 2019, 9:30 PM IST
हनी ट्रैप मामला: रिमांड अवधि बढ़ने से बेहोश हुई मुख्‍य आरोपी मोनिका यादव, कोर्ट ने मानी पुलिस की मांग
कोर्ट ने 27 सितम्बर तक बढ़ाई रिमांड की अवधि.

मध्‍य प्रदेश के हाई-प्रोफाइल हनी ट्रैप मामले (Honey Trap case) की मुख्य आरोपी आरती दयाल (Aarti Dayal), मोनिका यादव (Monika Yadav) और ड्राइवर ओमप्रकाश (Omprakash) की जिला कोर्ट ने रिमांड 6 दिन बढ़ा दी है.

  • Share this:
इंदौर. मध्‍य प्रदेश के हाई-प्रोफाइल हनी ट्रैप मामले (Honey Trap case) की मुख्य आरोपी आरती दयाल (Aarti Dayal), मोनिका यादव (Monika Yadav) और ड्राइवर ओमप्रकाश (Omprakash) को रविवार को पलासिया पुलिस ने रिमांड अवधि खत्म होने पर जिला कोर्ट में पेश किया. पुलिस ने आरोपियों की 7 दिन की रिमांड मांगी, जिस पर जज ने 6 दिन की रिमांड दे दी. जबकि कोर्ट में पेशी के बाद आरोपी मोनिका यादव को चक्कर आने लगे और वो बेहोश हो गई, जिसके बाद पुलिस ने उसका एमवाय अस्तपाल में इलाज कराया.

बहरहाल, बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले की मुख्य आरोपी आरती दयाल और मोनिका यादव की रिमांड खत्म होने के बाद इंदौर की पलासिया थाना पुलिस ने रविवार को जिला न्यायालय की 35 नंबर कोर्ट में सभी को पेश किया. इस दौरान जिला न्यायाधीश अब्दुल अहमद की कोर्ट में आरोपियों ने शिकायत की कि उन्हें पुलिस द्वारा टॉर्चर किया जा रहा है. आरती दयाल और मोनिका यादव के वकील घनश्याम गुप्ता और अखिल गोधा ने बताया कि हनी ट्रैप मामले की आरोपी आरती दयाल और मोनिका यादव को अपराध की जगह जाकर तफ्तीश करने के लिए पुलिस ने सात दिन की रिमांड मांगी थी, जिसे जिला न्यायाधीश ने 27 सितम्बर तक ही रिमांड दी. जबकि ड्राइवर ओमप्रकाश को ज्यूडिशियल रिमांड पर 4 अक्टूबर तक जेल भेज दिया गया.

हालात बिगड़ती देख पुलिस ले गई एमवाय अस्पताल.


पुलिस कर रही है ये काम

गौरतलब है कि पुलिस इस मामले में और सबूत जुटाने के प्रयास में लगी है जिसके चलते भोपाल, इंदौर और छतरपुर पुलिस ने रिमांड और बढ़ाए जाने की अपील की थी. जबकि कोर्ट में आरती और मोनिका रिमांड पेपर पर साइन भी नहीं कर रही थीं, लेकिन पुलिस ने जब फटकार लगाई तो दोनों ने साइन किए. पुलिस को उम्मीद है कि 6 दिनों की रिमांड अवधि पर दोनों और भी कई राज उगलेंगीं. इसके अलावा पुलिस अलग-अलग जिलों में ले जाकर उनके वीडियो के आधार पर जांच करेगी, जिससे और भी कई सबूत सामने आ सकें. जबकि तीन अन्‍य महिलाओं को कल इंदौर कोर्ट में पेश किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- CM कमलनाथ के मंत्री की मीटिंग में बवाल, कार्यकर्ताओं ने कहा- पार्टी में अब एक दलाल कांग्रेस का गठन कर देना चाहिए

कांग्रेस महासचिव दीपक बावरिया की शिवराज को नसीहत, बोले- केंद्र सरकार को जगाएं या फिर जल समाधि ले लें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 22, 2019, 9:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...