इंदौरी खाने और ग्वालियर के संगीत को मिलेगी UNESCO की मान्यता

इंदौरी खाने को संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) से मान्यता मिलने की कवायद शुरू हो गई है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: May 17, 2019, 1:34 PM IST
इंदौरी खाने और ग्वालियर के संगीत को मिलेगी UNESCO की मान्यता
सांकेतिक तस्वीर
News18 Madhya Pradesh
Updated: May 17, 2019, 1:34 PM IST
इंदौरी खाने को संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) से मान्यता मिलने की कवायद शुरू हो गई है. 16 मई को देश की राजधानी दिल्ली में यूनेस्को के सामने स्टेट मिशन डायरेक्टर मनीष सिंह और निगमायुक्त आशीष सिंह प्रस्तुतिकरण दिया.

इंदौरी पोहा, नमकीन और चाट के स्वाद के अभी तक केवल देश के लोग ही कायल थे. बता दें कि इंदौर के सराफा और 56 दुकान का स्वाद राहुल गांधी से लेकर अमित शाह तक ले चुके हैं. अब इस स्वाद को अतंरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिलने वाली है. इसके अलावा इंदौर में होली के पांच दिन बाद मनाए जाने वाले त्योहार रंगपंचमी को भी इस लिस्ट में शामिल करने की कवायद जारी है.



इंदौर के अलावा राज्य सरकार ने भोपाल की संस्कृति, ग्वालियर के संगीत और चंदेरी की टेक्सटाइल को भी शामिल करने का प्रस्ताव भेजा है. मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव हरिरंजन राव ने प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन को एक पत्र लिखा था, जिसके अनुसार यूनेस्को की एक कांफ्रेंस 16 मई को दिल्ली में हुई.



साल 2004 से यूनेस्को साहित्य, संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए क्रिएटिव सिटी का समूह बनाकार काम कर रहा है. अभी तक इसमें दुनिया के 180 शहर शामिल हो चुके हैं. मध्य प्रदेश से चार शहरों के नाम भेजे गए हैं जिसे इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और चंदेरी के सीएमओ को भेजा जा रहा है.

पूरे देश में प्रसिद्ध है इंदौर की रंगपंचमी 

इंदौर की समृद्धशाली परंपरा रंगपंचमी को विश्व धरोहर के रूप में पहचान दिलाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर भी काम किया जा रहा है. रंगपंचमी पर गेर निकलती है. गेर एक तरह का जुलूस है जिसमें लोग एक दूसरे पर रंग-गुलाल लगाते हैं.
Loading...



UNESCO में शामिल होने के फायदे

पर्यटन की नजर से चारों शहरों इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और चंदेरी के नाम वैश्विक पटल पर आ जाएंगे. हमारी सांस्कृतिक विरासत और खानपान का विश्व में प्रचार होगा. आर्थिक और सामाजिक तौर पर शहर मजबूत होंगे. इसका फायदा व्यवसाय और रोजगार को मिलेगा. इसके अलावा सफाई में नंबर एक आने का भी फायदा मिलेगा.

ये भी पढ़ें:- कुछ ऐसा है खरगोन लोकसभा क्षेत्र, जहां आज पीएम मोदी आए

ये भी पढ़ें:- राहुल के भाषण का वीडियो जारी कर फंसे शिवराज, पुलिस से शिकायत
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार