Assembly Banner 2021

इंदौर में तेंदुए का शिकार करने के आरोप में चार लोग गिरफ्तार, जानवरों के अवशेष बरामद

गिरफ्तार शिकारियों के पास से हथियार और जंगली जीवों के अवशेष बरामद हुए हैं (फाइल फोटो)

गिरफ्तार शिकारियों के पास से हथियार और जंगली जीवों के अवशेष बरामद हुए हैं (फाइल फोटो)

प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) आलोक कुमार ने बताया कि पिछले वर्ष नौ-दस जुलाई, 2020 को घायल तेंदुए (Leopard) की सीटी स्कैन रिपोर्ट के मुताबिक उसके सिर में गन शॉट के लोहे के 46 छर्रे मिलने से शिकार की पुष्टि हुई थी. इस सिलसिले में 13 दिसंबर. 2020 को मामला दर्ज किया गया था

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश के इंदौर (Indore) जिले के नयापुरा के जंगलों में तेंदुए का शिकार (Leopard Hunting) करने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) आलोक कुमार ने रविवार को बताया कि पिछले वर्ष नौ-दस जुलाई, 2020 को घायल तेंदुए की सीटी स्कैन रिपोर्ट के मुताबिक उसके सिर में गन शॉट के लोहे के 46 छर्रे मिलने से शिकार की पुष्टि हुई थी. इस सिलसिले में 13 दिसंबर. 2020 को मामला दर्ज किया गया था.

उन्होंने बताया कि जांच के बाद इंदौर जिले के निवासी रामचरण, विष्णु, रमेश और राजेन्द्र को हाल ही में गिरफ्तार किया गया है. जबकि गिरोह के अन्य सदस्य फरार है, जिनकी तलाश की जा रही है. कुमार ने बताया कि आरोपियों से शिकार में इस्तेमाल दो बंदूक, तीन तलवार, पांच कारतूस और खोखे बरामद किए गए हैं. साथ ही उनके पास से जंगली सुअर के छह जबड़े, एक दुर्लभ प्रजाति का कछुआ, दो नग जंगली जानवर के खून से सने कपड़े, एक फालिया, दो बड़े चाकू, बंदूक के लोहे के छर्रे आदि बरामद किये गये हैं.

उन्होंने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में स्वीकार किया है कि वो पिछले कई वर्षों से वन्य-प्राणियों का शिकार कर रहे हैं. इस मामले में आगे जांच की जा रही है.



बता दें कि टाइगर के बाद लैपर्ड स्टेट बने मध्य प्रदेश में वन्य जीवों की जनसंख्या बढ़ने के कारण उनकी सुरक्षा बड़ी चुनौती बन गयी है. जितनी तेजी से इनकी आबादी बढ़ी उतनी ही तेजी से शिकार भी बढ़ रहा है. हालात ये हैं कि तेंदुए के शिकार के मामले में प्रदेश देश में नंबर वन है. सूचना के अधिकार से मिली जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश तेंदुए के शिकार के मामले में देश में सबसे आगे है. (भाषा से इनपुट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज