Assembly Banner 2021

दिलचस्प : लिफ्ट हादसे में जान बची तो कमलनाथ को याद आए इंदौर वाले हनुमान

इंदौर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हनुमान की ये प्रतिमा कमलनाथ को भेंट की थी.

इंदौर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हनुमान की ये प्रतिमा कमलनाथ को भेंट की थी.

INDORE-कमलनाथ सहित कई कांग्रेस नेता उस समय बाल बाल बच गए थे जब अस्पताल की लिफ्ट बेसमेंट में जाकर गिर गई थी. लिफ्ट इतनी तेजी से गिरी थी कि धूल का गुबार छा गया था लेकिन ये अच्छा था कि किसी को बड़ी चोट नहीं आयी

  • Share this:
इंदौर.पीसीसी चीफ,नेता प्रतिपक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath) की हनुमान भक्ति जग जाहिर है.उनकी इस भक्ति में एक किस्सा और जुड़ गया है.ये किस्सा हाल ही में इंदौर में उनके साथ हुए लिफ्ट हादसे से जुड़ा है.

21 फरवरी को इंदौर में हुए कांग्रेस के संभागीय कार्यकर्ता सम्मेलन में कांग्रेसियों ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को अष्टधातु की हनुमान की प्रतिमा भेंट की थी.कमलनाथ उसे इंदौर में ही छोड़ गए थे.इस कार्यक्रम के बाद वो कांग्रेस नेता रामेश्वर पटेल को देखने डीएनएस अस्पताल गए और वहां लिफ्ट हादसा हो गया.उसमें वो बाल-बाल बचे.

हनुमानजी की कृपा
उस हादसे के बाद कमलनाथ ने ट्वीट कर हनुमानजी को धन्यवाद दिया था और लिखा था कि हनुमानजी की कृपा सदा से रही है.जय हनुमान.उस घटना के 10 दिन बाद उन्हे अचानक इंदौर की वो हनुमान मूर्ति याद आ गयी जो उन्हें भेंट की गयी थी.अब कमलनाथ ने इंदौर में भेंट की गई उस मूर्ति को अपने भोपाल दफ्तर में बुलवाया है.उनका मानना है कि हनुमान जी की वजह से ही उनकी जान बची है,लेकिन कहीं कोई गलती हो गई जिससे ये घटना घटी.इसी का पश्चाताप करते हुए उन्हें य़ाद आया कि उन्हें भेंट की गई मूर्ति तो इंदौर में ही छूट गई इसीलिए उन्होंने अपने ओएसडी को मूर्ति बुलवाने का आदेश दे दिया.इंदौर शहर कांग्रेस के अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने मूर्ति भोपाल भिजवा दी है.
छिंदवाड़ा में हनुमान मंदिर


हालांकि इस हादसे के तत्काल बाद सीएम शिवराज सिंह ने कमलनाथ का हाल चाल जाना था और हादसे की जांच के आदेश इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह को दे दिए थे. कमलनाथ की हनुमान भक्ति इस घटना के बाद फिर सामने आई है.अपने क्षेत्र छिंदवाडा़ में हनुमानजी का भव्य मंदिर और मूर्ति भी लगवाई है.

अस्पताल की लिफ्ट गिरी थी
कमलनाथ सहित कई कांग्रेस नेता उस समय बाल बाल बच गए थे जब अस्पताल की लिफ्ट बेसमेंट में जाकर गिर गई थी. लिफ्ट इतनी तेजी से गिरी थी कि धूल का गुबार छा गया था लेकिन ये अच्छा था कि किसी को बड़ी चोट नहीं आयी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज