केंद्र में लौटने से कमलनाथ का इनकार, कहा- MP में रह कांग्रेस के केंद्रीय संगठन की निभाऊंगा जिम्मेदारी

कमलनाथ ने अपनी कही बात को फिर दोहराते हुए कहा कि वो मध्य प्रदेश की राजनीति को छोड़कर नहीं जाने वाले

कमलनाथ ने अपनी कही बात को फिर दोहराते हुए कहा कि वो मध्य प्रदेश की राजनीति को छोड़कर नहीं जाने वाले

कांग्रेस की केंद्रीय राजनीति में लौटने को लेकर लगाई जा रही अटकलों पर प्रतिक्रिया देते हुए कमलनाथ (Kamalnath) ने कहा, 'अगर मुझे अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की ओर से कोई भी जिम्मेदारी निभाने को कहा जाएगा, तो मैं यह जिम्मेदारी मध्य प्रदेश में रहकर भी निभा सकता हूं'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 9:27 PM IST
  • Share this:
इंदौर. पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ (Kamalnath) ने केंद्र की राजनीति में लौटने के लिए आने वाले दिनों में मध्य प्रदेश की सियासत (Madhya Pradesh Politics) से दूरी बनाने के अटकलों को खारिज किया है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वो कांग्रेस के केंद्रीय संगठन से मिली कोई भी जिम्मेदारी राज्य में ही रहकर निभाने में सक्षम हैं. बता दें कि कमलनाथ फिलहाल मध्य प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष और विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता की दोहरी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं.

कांग्रेस के शीर्ष रणनीतिकारों और संकटमोचकों में शामिल रहे अहमद पटेल के निधन के बाद से लगातार अटकलें लगाई जा रही हैं कि इस जगह को भरने के लिए कमलनाथ को पार्टी के केंद्रीय संगठन में कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है. इन अटकलों को लेकर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर कमलनाथ ने रविवार को मीडिया से कहा, 'मैं पहले ही स्पष्ट कर चुका हूं कि मैं मध्य प्रदेश छोड़कर कहीं भी जाने वाला नहीं हूं.'

इसके साथ ही उन्होंने तुरंत यह भी कहा, 'अगर मुझे अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की ओर से कोई भी जिम्मेदारी निभाने को कहा जाएगा, तो मैं यह जिम्मेदारी मध्य प्रदेश में रहकर भी निभा सकता हूं.'

बता दें कि लंबे समय तक दिल्ली में रहकर केंद्र की राजनीति कर चुके कमलनाथ को नवंबर 2018 में हुए मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों से चंद महीनों पहले मध्य प्रदेश कांग्रेस समिति का अध्यक्ष बनाया गया था. इन चुनावों में कांग्रेस की जीत के बाद वह राज्य के मुख्यमंत्री बने थे. मार्च 2020 में कांग्रेस से बीजेपी में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया के कहने पर कांग्रेस के 22 बागी विधायक विधानसभा से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए थे. इसके बाद तत्कालीन कमलनाथ सरकार को सत्ता गंवानी पड़ी थी. इसके तुरंत बाद शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में बीजेपी राज्य की सत्ता में लौट आई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज