Indore News: इंदौर जिले के नाम दर्ज हुआ रिकॉर्ड, एक दिन में 2 लाख से ज्यादा लगे टीके

सिंह ने बताया कि राजनेताओं तथा धर्मगुरुओं की मदद से लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया गया और महामारी से बचाव के टीके लगवाने में ग्रामीणों ने भी खूब उत्साह दिखाया. (सांकेतिक फोटो)

जिला टीकाकरण अधिकारी प्रवीण जड़िया (Praveen Jadia) ने बताया कि हमने कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण के महाअभियान के पहले दिन (सोमवार) दो लाख से ज्यादा लोगों को टीका लगाया है. यह देश भर के किसी भी जिले में एक ही दिन में सर्वाधिक टीकाकरण का राष्ट्रीय कीर्तिमान है.’

  • Share this:
    इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर (Indore) जिले में सोमवार को दो लाख से ज्यादा लोगों को कोविड-19 रोधी टीके (Anti Covid-19 Vaccines) लगाए गए. यह देश भर के जिलों में एक ही दिन में सर्वाधिक टीकाकरण का राष्ट्रीय कीर्तिमान है. स्वास्थ्य विभाग के एक आला अधिकारी ने यह जानकारी दी. दरअसल, इंदौर मध्य प्रदेश में महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित जिला है. जिला टीकाकरण अधिकारी प्रवीण जड़िया (Praveen Jadia) ने बताया कि हमने कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण के महाअभियान के पहले दिन (सोमवार) दो लाख से ज्यादा लोगों को टीका लगाया है. यह देश भर के किसी भी जिले में एक ही दिन में सर्वाधिक टीकाकरण का राष्ट्रीय कीर्तिमान है.’

    इस बीच, जिलाधिकारी मनीष सिंह ने बताया, ’मेरा मानना है कि जिले में सोमवार को टीकाकरण का अंतिम आंकड़ा 2.25 से 2.50 लाख के बीच होगा.’ उन्होंने बताया कि टीका लगवाने आए लोगों के बारे में कोविन पोर्टल पर जानकारी दर्ज करते वक्त कई तकनीकी बाधाएं भी आईं, लेकिन नियंत्रण कक्ष में बैठे विशेषज्ञों और अधिकारियों की मदद से इन्हें दूर करते हुए टीकाकरण लगातार जारी रहा. जिलाधिकारी ने बताया, ’टीकाकरण महा अभियान के लिए स्वास्थ्य कर्मियों के साथ ही बड़ी तादाद में कम्प्यूटर ऑपरेटरों का भी इंतजाम किया गया ताकि टीका लगवाने आए लोगों के बारे में जानकारी कोविन पोर्टल पर जल्द से जल्द दर्ज की जा सकें.’

    इनमें से 1,376 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है
    सिंह ने बताया कि राजनेताओं तथा धर्मगुरुओं की मदद से लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित किया गया और महामारी से बचाव के टीके लगवाने में ग्रामीणों ने भी खूब उत्साह दिखाया. टीकाकरण अधिकारी जड़िया ने बताया कि प्रशासन ने जिले में सोमवार को दो लाख लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य तय किया था. इसे हासिल करने के लिए 675 टीकाकरण केंद्र बनाए गए जहां कुल 1,140 सत्रों में सुबह आठ बजे से रात नौ बजे तक टीके लगाए गए. उन्होंने बताया कि जिले में करीब 1,200 स्वास्थ्य कर्मियों ने लोगों को टीके लगाए और 40 केंद्रों से टीकों का वितरण किया गया, जबकि 120 डॉक्टरों ने टीकाकरण महा अभियान की निगरानी की. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक करीब 35 लाख की आबादी वाले जिले में अब तक महामारी के कुल 1.52 लाख मरीज मिले हैं. इनमें से 1,376 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.