COVID-19: बचाव का खास तरीका, ड्रोन के जरिए सैनेटाइज किया जा रहा है ये शहर

ड्रोन के ज़रिये पूरे शहर को सैनिटाइज़ करने में जुटा इंदौर नगर निगम

देश का सबसे साफ शहर इंदौर (Indore) कोरोना के खिलाफ जंग में भी अव्वल है. यहां ड्रोन से वायरस नाशक कैमिकल का छिड़काव कर पूरे शहर को सैनिटाइज़ करने का प्रयास किया जा रहा है.

  • Share this:
इंदौर. मध्य प्रदेश के जबलपुर में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने से हड़कंप मचा हुआ है, इसके देखते हुए पूरे प्रदेश में भारी सतर्कता बरती जा रही है. इंदौर में कोरोना संक्रमण (Corona Infected) से बचाव के लिए खास तरह की ऐहितियात बरती जा रही है. इंदौर नगर निगम शहर में ड्रोन से वायरस नाशक केमिकल का छिड़काव करवा रहा है. ये देश में पहला शहर है जहां ड्रोन के जरिए शहर को सैनिटाइज किया जा रहा है. माना जा रहा है कि इससे कोरोना वायरस के बचने के चांसेस न के बराबर होंगे.

भीड़-भाड़ वाले इलाकों से की गई शुरूआत
निगमायुक्त आशीष सिंह ने बताया कि पहले चीन में ऐसा प्रयोग किया जा चुका है, उसके बाद देश में संभवत: ये पहला प्रयोग है जिसमें भीड़ भाड़ वाले इलाकों को ड्रोन के जरिए सेनीटाइज किया जा रहा है. ड्रोन की सहायता से सब्जी मंडी, प्रमुख बाजारों, सड़कों और भीड़ भाड़ वाले इलाकों में सोडियम हाईपो क्लोराइड और बायो क्लीन का छिड़काव किया जा रहा है.

एक बार में 8-10 किलोमीटर क्षेत्र में दवा का छिड़काव
नगर निगम ने निजी कंपनी से दो ड्रोन किराए पर लिए हैं. ये ड्रोन एक बार में 16 लीटर केमिकल लेकर उड़ान भरते हैं और 30 मिनट तक छिड़काव करते हैं. ड्रोन से एक बार में 8-10 किलोमीटर क्षेत्र में दवा का छिड़काव किया जा रहा है.

हर्बल तरीके से तैयार की गई दवा
ड्रोन के जरिए छिड़की जा रही दवा से किसी को नुकसान न हो इसका खास ख्याल रखा गया है, इसलिए ये दवा भी हर्बल तरीके से तैयार की गई है. ये जिस किसी भी व्यक्ति पर गिरती है, उसे नुकसान नहीं होता है. शनिवार से ये ड्रोन शहर को सैनिटाइज करने में लगे हुए हैं. इससे पहले चीन में ड्रोन के जरिए चीनी अधिकारी लोगों पर निगरानी रखने का काम कर रहे हैं. ड्रोन के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे नागरिकों को बिना मास्क लगाए घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जा रही है. साथ ही एक जगह इकट्ठे हो रहे लोगों को अगाह किया जा रहा है.

व्यापारियों ने लिया सेल्फ लॉक डाउन का फैसला
सरकार के आदेश से पहले आर्थिक राजधानी इंदौर के बाजारों में सेल्फ लॉकडाउन यानी स्वप्रेरणा से दुकानें बंद रखने की तैयारी शुरू हो गई है. कोरोना से निपटने के लिए राज्य के सबसे बड़े व्यापारिक संगठन अहिल्या चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने इसका आह्वान किया है. चैंबर के भीतर 100 से ज्यादा कारोबारी संगठन सदस्य के तौर पर शामिल हैं. शनिवार को सभी से सहमति बनने के बाद रविवार से 31 मार्च तक शहर के प्रमुख बाजार बंद करने का फैसला लिया गया है. सिर्फ किराना, सब्जी, दूध, दवा जैसी जरूरी वस्तुओं की दुकानें ही खुली रखी जाएंगी. शहर की दुकानें बंद होने से बाजार में भीड़ पर नियंत्रण में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें -
दिल्ली में सोनिया गांधी से मिलेंगे कमलनाथ तो कांग्रेस के बागी MLA सिंधिया से करेंगे मुलाकात
MP: सरकार की विदाई के बाद अब अफसरों की बारी, ये IAS और IPS हो सकते हैं निशाने पर

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.