• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • INDORE : हेलमेट नहीं पहनने और रेड लाइट जंप करने पर दी रही है ऑन द स्पॉट सजा

INDORE : हेलमेट नहीं पहनने और रेड लाइट जंप करने पर दी रही है ऑन द स्पॉट सजा

ट्रैफिक रूल तोड़ने वालों के सामने दो विकल्प हैं. या तो चालान भरो या ट्रैफिक संभालों.

ट्रैफिक रूल तोड़ने वालों के सामने दो विकल्प हैं. या तो चालान भरो या ट्रैफिक संभालों.

Indore- इंदौर की ट्रैफिक व्यवस्था संभालना पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. पीक अवर्स में व्यवस्था पूरी तरह चरमरा जाती है. एबी रोड, 56 दुकान, राजवाड़ा, रीगल चौराहा और विजयनगर में लंबा ट्रैफिक जाम लगता है. शहर की यातायात व्यवस्था को लेकर कई बार मंत्री से लेकर वरिष्ठ अधिकारी तक चिंता जाहिर कर चुके हैं

  • Share this:

इंदौर. इंदौर (Indore) में अब ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) सख्ती के मूड में आ गयी है. नियमों का पालन न करने वाले लोगों को ऑन द स्पॉट सजा दी जा रही है. ऐसे वाहन चालकों को ट्रैफिक पुलिस चौराहे पर ही खड़ा करके उन्हें ट्रैफिक व्यवस्था संभालने में लगा रही है.

इंदौर में शहर की ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए यातायात पुलिस विशेष अभियान चला रही है.जिसके तहत नियमों का उल्लंघन करने वालों को इस तरह की सजा दी रही है.

चालान भरो या ट्रैफिक संभालो
इंदौर में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ यातायात पुलिस ने एक विशेष अभियान चलाया है. यातायात के नियमों को तोड़ने वालों को या तो चालान भरना होगा या फिर चौराहे पर 1 घंटे यातायात संभालना होगा. यातायात पुलिस के डीएसपी उमाकांत चौधरी ने बताया कि जो भी लोग यातायात नियमों का उल्लंघन करते हैं उनका चालान बनाया जाता है. उसके बाद भी वो फिर नियमों का उल्लंघन करते पाए जाते हैं. इसलिए ये विशेष अभियान चलाया जा रहा है. इसमें या तो चालानी कार्रवाई की जाएगी या फिर उसी चौराहे पर 1 घंटे तक यातायात व्यवस्था संभालने की सजा दी जा रही है. साथ ही भविष्य में ट्रैफिक रूल्स के पालन की शपथ भी दिलवाई जा रही है.

ये भी पढ़ें-तालिबान से MP का कनेक्शन! दंगों की साजिश में गिरफ्तार आरोपियों ने सोशल मीडिया पर की थी बातचीत

विशेष अभियान
ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरुकता लाने के लिए इंदौर यातायात पुलिस ने शहर के कई चौराहों पर चला विशेष अभियान चला रखा है. जिन लोगों को सजा दी जा रही है उन्हें बाकायदा ट्रैफिक पुलिस की जैकेट भी पहनाई जा रही है. डीएसपी उमाकांत चौधरी का कहना है जब नियम तोड़ने वाला खुद ही दूसरों से नियम का पालन करवाएगा तो उसे ये एहसास होगा कि रूल तोड़ने पर दूसरों को कितनी दिक्कत होती है और दुर्घटनाएं होती हैं..

बसों के कारण परेशानी
सड़क किनारे खड़ी बसों की वजह से भी यातायात में बाधा आती है. ट्रैफिक विभाग और नगर निगम ऐसी बसें जब्त कर ट्रेंचिग ग्राउंड भिजवा रहा है. अभी तक आधा सैकड़ा बसें ट्रेचिंग ग्राउंड भिजवाई जा चुकीं हैं. ट्रैवल संचालकों और बस मालिकों को सख्त हिदायत दी जा रही है कि वे अपनी बसें तय जगह पर ही खड़ीं करें.

यहां रोज होता है जाम
इंदौर की ट्रैफिक व्यवस्था संभालना पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. पीक अवर्स में व्यवस्था पूरी तरह चरमरा जाती है. एबी रोड, 56 दुकान, राजवाड़ा, रीगल चौराहा और विजयनगर में लंबा ट्रैफिक जाम लगता है. शहर की यातायात व्यवस्था को लेकर कई बार मंत्री से लेकर वरिष्ठ अधिकारी तक चिंता जाहिर कर चुके हैं. ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के लिए नये नये प्रयोग भी किए जा रहे हैं. उसी के तहत अब आदतन नियम तोड़ने वालों को ट्रैफिक संभालने की सजा दी जा रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज