इंदौर: अवैध हथियार कारखाने पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में पिस्टल, कट्टे के साथ 5 गिरफ्तार

अवैध हथियार कारखाने पर इंदौर पुलिस की दबिश

अवैध हथियार कारखाने पर इंदौर पुलिस की दबिश

अवैध हथियार फैक्ट्री (Illegal arms factory) पर इंदौर पुलिस (Indore Police) की कार्रवाई में 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मौके से 21 पिस्टल समेत 27 हथियार बरामद किए गए हैं. पुलिस ने कारखाने को नष्ट कर दिया है.

  • Share this:
इंदौर. हथियार बनाने के अवैध कारखाने (Factory) पर दबिश देकर इंदौर पुलिस (Indore Police) ने मौके से 21 पिस्टल व छह कट्टे के साथ 5 आरोपियों को गिरफ्तार (Arrest) किया है. ये लोग प्रदेश के दूसरे इलाकों में हथियार सप्लाई करते थे. ऐसे ही मामले के दौरान मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने एक युवक को हथियारों के साथ धर दबोचा. उसकी निशानदेही पर असलहा बनाने की फैक्ट्री पर रेड की गई जहां से हथियार बनाने का सामान और कुछ हथियार बरामद किए गए हैं.



अवैध हथियार फैक्ट्री पर दबिश

इंदौर पुलिस लगातार अवैध हथियार की खेप पकड़ती आई है, इसी सिलसिले में इंदौर पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया जो कि हथियारों को बड़वानी से छतरपुर सप्लाई करने लेकर जा रहा था. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की और उसकी निशानदेही पर ही हथियार बनाने के कारखाने पर दबिश दी. पुलिस ने जिस वक़्त कारखाने पर छापा मारा उस वक़्त भी हथियार बन रहे थे. पुलिस भी देख कर हैरान हो गई की आखिर कैसे शातिराना अंदाज में वह हूबहू विदेशी हथियारों की तर्ज पर उन्हें बना रहे हैं. पुलिस ने मौके से हथियार सहित कारखाने के औजार भी जब्त किये हैं.



News - अवैध हथियार बनाने वाला ये गैंग अन्य राज्यों में भी हथियार सप्लाई करता था.
अवैध हथियार बनाने वाला ये गैंग अन्य राज्यों में भी हथियार सप्लाई करता था.

कई राज्यों में बेचते हैं हथियार



मौके से कच्ची सामग्री, बैरल, आरी, संसी, पिस्टल बनाने का फॉर्मा, मैगजीन, स्प्रिंग, लोहा भट्टी बरामद किए गए हैं, इन्हीं की मदद से आरोपी अवैध हथियार बनाते थे, और प्रदेश के कई हिस्सों और बाहरी राज्यों में हथियार सस्ते दामों में बेचते है. एसएसपी रूचिवर्धन मिश्र के मुताबिक़ कारखाने को नष्ट कर दिया गया है. साथ ही हथियार बनाने, बेचने खरीदने और सप्लाई करने वाले 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने मौके से कुल २७ अवैध हथियार जब्त किए हैं, जिन्हें आरोपी बनाकर बेचने की फिराक में थे.



ये भी पढ़ें -

कमलनाथ कैबिनेट ने नगरीय निकाय एक्ट संशोधन को दी मंज़ूरी, महापौर को जनता नहीं पार्षद चुनेंगे

कंप्यूटर बाबा ने दिया HONEY TRAP पर बड़ा बयान, कहा- पूर्व CM शिवराज हैं इसके जिम्मेदार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज