होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Indore Ragging Case: जूनियर्स से अश्लील काम कराने वाले 10 सीनियर स्टूडेंट्स की हुई पहचान

Indore Ragging Case: जूनियर्स से अश्लील काम कराने वाले 10 सीनियर स्टूडेंट्स की हुई पहचान

इंदौर में बीते 24 जुलाई को दर्ज किया गया था रैगिंग का यह मामला.

इंदौर में बीते 24 जुलाई को दर्ज किया गया था रैगिंग का यह मामला.

Indore Ragging Case News: इंदौर के शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय (Government Mahatma Gandhi Memorial ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय का मामला
कॉलेज प्रशासन बोला अभी तक आरोपी स्टूडेंट्स की सूची नहीं मिली
पीड़ित एक छात्र ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की हेल्प लाइन पर की थी शिकायत

इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर के मेडिकल कॉलेज में कुछ माह पहले आए रैगिंग के मामले (Ragging case) में आखिरकार पुलिस ने 10 आरोपी स्टूडेंटस की पहचान कर ली है. अभी तक किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है. वहीं कालेज प्रशासन (College administration) का कहना है कि अभी तक पुलिस ने उनको आरोपी छात्रों की सूची नहीं सौंपी है. सूची मिलते ही आरोपी छात्रों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी. बहरहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है. रैगिंग का यह मामला इंदौर के शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय (Government Mahatma Gandhi Memorial Medical College) से जुड़ा है. पुलिस गंभीरता से पूरे मामले की जांच में जुटी है.

संयोगितागंज पुलिस थाने के प्रभारी तहजीब काजी ने पीटीआई-भाषा को बताया एक पीड़ित छात्र की ओर से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की हेल्पलाइन पर की गई शिकायत के बाद महाविद्यालय प्रबंधन ने अज्ञात वरिष्ठ विद्यार्थियों के खिलाफ 24 जुलाई की देर रात आपराधिक मामला दर्ज कराया था. जांच में इस आरोप के समर्थन में कुछ सुराग मिले हैं कि रैगिंग के दौरान कुछ सीनियर स्टूडेंट्स की ओर से जूनियर स्टूडेंट्स को अलग-अलग फरमान सुनाने के अलावा अश्लील कार्य करने को भी कहा जाता था.

15 दिसंबर तक अदालत में आरोप-पत्र पेश करने का लक्ष्य
उन्होंने यह भी बताया कि पुलिस ने कथित रैगिंग के नाम पर अलग-अलग तरीकों से जूनियर स्टूडेंट को परेशान करने के आरोपी 10 सीनियर स्टूडेंट्स की पहचान कर ली है. इनमें से कुछ लोग अभी इंदौर से बाहर हैं. अभी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया है. थाना प्रभारी ने बताया इस मामले में 15 दिसंबर तक अदालत में आरोप-पत्र पेश करने का लक्ष्य तय किया गया है. पुलिस त्वरित कार्रवाई में लगी हुई है.

कॉलेज प्रबंधन बोला अभी तक हमें नहीं मिली सूची
वहीं चिकित्सा महाविद्यालय के डीन डॉ. संजय दीक्षित ने बताया पुलिस ने उनको अभी तक आरोपी स्टूडेंट्स की सूची नहीं सौंपी है. सूची मिलते ही हम संबंधित स्टूडेंट्स के खिलाफ अपने स्तर पर कार्रवाई करेंगे. रैगिंग का मामला सामने आने के बाद चिकित्सा महाविद्यालय के डीन ने दावा किया था कि यह घटना कॉलेज और उसके छात्रावास के परिसरों के बाहर की है.

Tags: Crime News, Government Medical College, Indore news, Madhya pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें