लाइव टीवी

इंदौर में सेकेंड अपर स्टेज में पहुंचा कोरोना, इलाज के लिए अस्पतालों को 3 कैटेगरी में बांटा
Indore News in Hindi

Arun Kumar Trivedi | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 31, 2020, 8:06 PM IST
इंदौर में सेकेंड अपर स्टेज में पहुंचा कोरोना, इलाज के लिए अस्पतालों को 3 कैटेगरी में बांटा
सांकेतिक फोटो.

देश के अन्य शहरों या राज्यों की तुलना में यहां मरीजों की संख्या कम होने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग ने इंदौर के सेकंड अपर स्टेज में पहुंचने की घोषणा कर दी है. मरीजों के इलाज के लिए जिले के अस्पतालों को रेड,येलो एवं ग्रीन केटेगरी में बांट दिया गया है.

  • Share this:
इंदौर.कोरोना के बढ़ते संक्रमण (corona virus) के कारण इंदौर देश के टॉप 5 सबसे ज़्यादा संक्रमित शहरों में शामिल हो गया है.अब तक इंदौर (indore) में 44 मामले सामने आ चुके हैं. जिनमें से कुल 5 की मौत हो चुकी है. इनमें से दो मरीज़ उज्जैन के थे. जो इंदौर में एडमिट थे. इंदौर में पॉजिटिव पाए गए किसी भी मरीज़ की ट्रैवल हिस्ट्री नहीं मिली है. यही चिंता का सबसे बड़ा कारण बन गया है कि आखिर संक्रमण कहां से फैला. देश के अन्य शहरों या राज्यों की तुलना में यहां मरीजों की संख्या कम होने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग ने इंदौर के सेकंड अपर स्टेज में पहुंचने की घोषणा कर दी है. मरीजों के इलाज के लिए जिले के अस्पतालों को रेड,येलो एवं ग्रीन केटेगरी में बांट दिया गया है.

कोरोना संक्रमित टॉप 5 शहरों में पहुंचा इंदौर
कोरोना प्रभावित शहरों की सूची में इंदौर टॉप 5 में पहुंच गया है. केरल नंबर वन पर है. यहां 107 पॉजिटिव मरीज मिले हैं. वहीं महाराष्ट्र के मुंबई में 80, पुणे में 45, केरल के कन्नूर में 44 और इंदौर में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 44 पहुंच चुकी है.  24 मार्च तक इंदौर में एक भी पॉजिटिव मरीज़ नहीं था. 6 दिन के अंदर 44 केस सामने आ गए.

अस्पतालों की कैटेगरी



इंदौर में बढ़ती मरीजों की संख्या को देखते हुए मरीजों के लक्षण एवं उपचार विशेष के लिए अस्पतालों को तीन कैटेगरी में बांटा दिया गया है. पहली कैटेगरी रेड, जिसमें कोविड पॉजि़टिव मरीज़ रहेंगे.दूसरी येलो कैटेगरी में करोना के संभावित लक्षण पाए सर्दी, खांसी, ज़ुकाम, गले में खराश वाले पेशेंट रहेंगे. तीसरी ग्रीन कैटेगरी में अन्य बीमारियों एवं इमरजेंसी पेशेंट लिए जाएंगे.



ये हैं अस्पताल
रेड केटेगरी अस्पतालों में मनोरमा टीबी हॉस्पिटल, एमवाय का चेस्ट सेंटर, एमटीएच हॉस्पिटल और श्री अरबिंदो इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस हॉस्पिटल शामिल हैं. इन अस्पतालों में कोविड-19 के पॉजिटिव पेशेंट का इलाज किया जाएगा. इसके अलावा यलो कैटेगरी अस्पतालों में प्रशांति हॉस्पिटल, मयूर हॉस्पिटल, गोकुलदास हॉस्पिटल, सुयश हॉस्पिटल, इंडेक्स मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, श्री अरिहंत हॉस्पिटल, सिनर्जी हॉस्पिटल एवं विशेष हॉस्पिटल शामिल है. वहीं ग्रीन कैटेगरी अस्पतालों में मिलिट्री हॉस्पिटल महू, शासकीय एमवाय हॉस्पिटल, सीएचएल अपोलो एलआईजी चौराहा, अपोलो राजश्री स्कीम नंबर 74, भंडारी हॉस्पिटल, मेदांता हॉस्पिटल लाइफ केयर हॉस्पिटल, ग्लोबल एसएनजी हॉस्पिटल, चोईथराम हॉस्पिटल, ग्रेटर कैलाश, गुर्जर हॉस्पिटल, बाम्बे हॉस्पिटल, एपल इंदौर हॉस्पिटल, विशेष डायग्नोस्टिक एवं नर्सिंग होम हॉस्पिटल, यूनिक सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, नोवल हॉस्पिटल, लाहौटी मेडिकेयर प्राइवेट लिमिटेड, गीता भवन हॉस्पिटल और इंदौर क्लॉथ मार्केट हॉस्पिटल शामिल हैं. इन अस्पतालों में रेड और येलो चिन्हित उपचार को छोड़कर अन्य बीमारियों के साथ ही इमरजेंसी सेवाएं दी जाएंगी.

मरीजों की हालत में सुधार
इंदौर के मनोरमा राजे चिकित्सालय में भर्ती 24 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 18 मरीजों की हालत में लगातार सुधार हो रहा है. सोमवार रात एक मरीज धार रोड निवासी 49 साल की महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई. ये कोरोना पॉजिटिव मरीज 22 मार्च से अरिहंत हॉस्पिटल में भर्ती थी.सोमवार शाम ही उसे मनोरमा राजे चिकित्सालय में स्थानांतरित किया गया था.मृतका ब्लड प्रेशर और डायबिटीज से पीड़ित थी. डॉक्टरों ने बताया कि मृतका की कोई ट्रैवल हिस्ट्री या कांटेक्ट हिस्ट्री नहीं है.

ये भी पढ़ें-

इंदौर अगले 7 दिन के लिए Total lockdown, कोरोना से बचाने के लिए उठाया बड़ा कदम

भोपाल आयी विदेशी जमातों का निज़ामुद्दीन मरकज़ से कनेक्शन, सभी क्वारेंटाइन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 31, 2020, 8:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading